जागरण संवाददाता, धनबाद : कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले देखते हुए 22 से 28 अप्रैल तक विनोद बिहारी महतो कोयलांचल विश्वविद्यालय और इसके अधीन आनेवाले सभी कॉलेजों को बंद कर दिया गया है। कार्यालय भी बंद रहेगा। अब 28 अप्रैल के बाद ही यूनिवर्सिटी और कॉलेजों में काम होगा। यह निर्णय सोमवार को विश्वविद्यालय सिडिकेट की हुई बैठक में लिया गया। बैठक की अध्यक्षता कुलपति डॉ. अंजनी कुमार श्रीवास्तव ने की।

बैठक में कोरोना की स्थिति की समीक्षा की गई। निर्णय हुआ कि 29 अप्रैल को जब विश्वविद्यालय एवं कॉलेज खुलेंगे तो रोस्टर प्रणाली पर शिक्षकों एवं शिक्षकेत्तर कर्मचारियों को कार्य करना होगा। एक सप्ताह के अवकाश के दौरान विश्वविद्यालय भवन एवं सभी कॉलेजों को अपने सभी कमरों का सैनिटाइज कराना अनिवार्य है। शिक्षकों को आदेश दिया गया कि सभी ऑनलाइन कक्षाओं का संचालन करेंगे। विभागाध्यक्षों एवं प्राचार्यो को ऑनलाइन पठन-पाठन कार्य की निगरानी करनी है। साथ ही माह के अंतिम सप्ताह में शिक्षकवार पढ़ाए गए विषयों की रिपोर्ट संकायाध्यक्ष के पास जमा करानी है। संकायाध्यक्ष इस रिपोर्ट को डीन छात्र कल्याण के पास जमा कराएंगे। सभी शिक्षकों, पदाधिकारियों एवं कर्मचारियों को किसी भी स्थिति में मुख्यालय नहीं छोड़ने का आदेश है। साथ ही दूरभाष पर संपर्क रखने की हिदायत दी गई है। परीक्षाओं को लेकर निर्णय हुआ कि आंतरिक विषयों की परीक्षाएं असाइनमेंट के माध्यम से पूरी की जाएंगी। यह कार्य 30 अप्रैल तक हर हाल में पूरा कर लेना है। छात्र-छात्राओं के लिए यह आदेश दिया गया है कि वे अपनी पढ़ाई हर हाल में पूरी करें। स्थिति सामान्य होने पर परीक्षाएं आयोजित की जाएंगी।

दीक्षांत समारोह ऑनलाइन होने की संभावना : बैठक में विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह को लेकर भी चर्चा हुई। विश्वविद्यालय दीक्षांत समारोह ऑनलाइन कराने को लेकर तैयार है। हालांकि इस पर निर्णय राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू को लेना है। उनके आदेश से ही विश्वविद्यालय दीक्षांत समारोह का आयोजन करेगी।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप