धनबाद, जेएनएन। राज्य के विश्व प्रसिद्ध बाबा बैद्यनाथ मंदिर की व्यवस्था यथावत रहेगी। देवघर और बासुकीनाथ मंदिर को खोले जाने के मामले की सुनवाई के बाद सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी को लेकर देवघर के उपायुक्त कमलेश्वर प्रसाद सिंह ने शनिवार को यह स्पष्ट तौर पर कहा। उन्होंने कहा कि बैद्यनाथ मंदिर की व्यवस्था यथावत रहेगी क्योंकि सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में उच्च न्यायालय के आदेश को यथावत रहने दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने कई सुझाव दिए हैं, लेकिन इन सुझावों पर राज्य सरकार के स्तर से कोई निर्देश अब तक नहीं मिला है। राज्य में 31 अगस्त तक लॉकडाउन है। इस लिहाज से सरकार का नया निर्देश मिलने तक मंदिर की व्यवस्था यथावत रहेगी।

गौरतलब है कि शुक्रवार को बैद्यनाथधाम को आम लोगों के दर्शन के लिए खोलने की मांग वाली याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार से इसका प्रबंध करने को कहा है। अदालत ने सलाह देते हुए कहा कि कोरोना संकट काल में भीड़ न लगे, इसके लिए सीमित संख्या में दर्शन करने की व्यवस्था की जाए।

बता दें कि कोविड-19 के लेकर लागू लॉकडाउन के कारण बाबा बैद्यनाथ व बासुकिनाथ मंदिर 22 मार्च से ही आम लोगों के लिए बंद है। यहां सावन एवं भादो माह में लाखों की संख्या में लोग दर्शन करने आते हैं। लेकिन इस साल कोविड-19 के कारण आम लोगों को दर्शन की इजाजत नहीं दी गई है। इस दौरान इसको खोलने की मांग भी होती रही। हालांकि देश में कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए यहां के पंडा कहते हैं...

  • सुप्रीम कोर्ट के परामर्श का सम्मान करते हुए कहना है कि अगर यात्री आएंगे तो उनके लिए मुकम्मल व्यवस्था करनी पड़ेगी। इसमें वाहन, ठहरने, भोजन के लिए होटल खोलने की व्यवस्था करनी पड़ेगी। हम सनातनी मंदिर बंद करने के पक्ष में नहीं हैं, मगर कोरोना महामारी में अपने तीर्थयात्रियों की सुरक्षा सर्वोपरि है। इसलिए पूरी सुरक्षा जिला प्रशासन सबसे पहले तय करे। -सुरेश भारद्वाज, अध्यक्ष, पंडा धर्मरक्षिणी महासभा, देवघर।
  • अभी मंदिर ना खुले, इसी में सभी की भलाई है। अभी तेजी से संक्रमण फैल रहा है। सुप्रीम कोर्ट के परामर्श का सम्मान करते हैं। -कार्तिकनाथ ठाकुर, महामंत्री, पंडाधर्म रक्षिणी महासभा, देवघर।
  • सरकार को शारीरिक दूरी एवं नियमों का सख्ती से अनुपालन करते हुए बासुकीनाथ मंदिर आम भक्तों के लिए भी खोल देना चाहिए। क्षेत्र में कोरोना नहीं फैले, इसके लिए भी सरकार समुचित एहतियात बरतते हुए आवश्यक प्रबंध करे। -पंडित प्रेमशंकर झा, सरकारी पुरोहित बासुकीनाथ मंदिर।

Posted By: Sagar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस