धनबाद, जेएनएन। जिला परिषद के सभागार में जल शक्ति अभियान के अंतर्गत विभिन्न एजेंसियों द्वारा की जा रही गतिविधियों के अनुश्रवण हेतु मंगलवार को जिला परिषद सभागार में उपायुक्त अमित कुमार की अध्यक्षता में बैठक की गई।

बैठक में उपायुक्त ने धनबाद बिल्डर एसोसिएशन को निर्देश दिया कि उनके द्वारा निर्मित सभी पुराने बिल्डिंग में रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम सुनिश्चित करें। इसे जुलाई माह में संपन्न करें। अगस्त माह से सघन जांच अभियान चलाया जाएगा। उपायुक्त ने कहा कि बड़े-बड़े भवनों का निर्माण किया जाता है। यहां पानी भी अधिक खर्च होता है। अपार्टमेंट में रेन वाटर हार्वेस्टिंग होने से समाज में एक अच्छा संदेश जाएगा। उपायुक्त ने कहा कि स्कूल, सामुदायिक भवन, खेत इत्यादि में जहां बाउंड्री वॉल नहीं है वहां पौधे लगाकर बायो फेंसिंग करें। पौधे का चयन करने में सभी सतर्कता बरतें। वैसे पौधे ना लगाएं जो भूजल का दोहन करते हों।

उपायुक्त ने कहा कि धनबाद के पर्यावरण को सुरक्षित रखने के लिए ग्रीन धनबाद फंड बनाया जाएगा। इसमें बीसीसीएल, टाटा, एमपीएल, एसीसी, सेल एवं स्थानीय नागरिक भी राशि देकर सहयोग प्रदान करें। इस फंड से प्राप्त राशि को ग्राम सभा स्तर पर पौधे वितरित करने में उपयोग किया जाएगा।

बैठक में जल शक्ति अभियान के नोडल पदाधिकारी आनंद शेरखानी ने कहा कि धनबाद, बाघमारा, झरिया तथा तोपचांची प्रखंड को रेन वाटर हार्वेस्टिंग के लिए प्रमुख रूप से चुना गया है। उन्होंने बीसीसीएल को निर्देश दिया कि वैसी जमीन जहां कोयले की खुदाई हो चुकी है वहां पौधारोपण करें।

बीसीसीएल को 28 लाख पौधे लगाने का निर्देश : उन्होंने बीसीसीएल के पदाधिकारी से पूछा कि 43 हजार हेक्टेयर जमीन में से कितनी जमीन पर प्लांटेशन करेंगे। इसकी कार्ययोजना बताएं और कम से कम 28 लाख पौधे लगाने का निर्देश दिया। साथ ही सभी भवनों और कॉलोनियों में वर्षा जल संरक्षण की व्यवस्था करने को कहा। शेरखानी में सभी से अपील की कि हमें केवल पौधारोपण नहीं करना है। हमें उस पेड़ को बचाना भी है। उन्होंने कहा कि बीसीसीएल प्रत्येक परिवार को एक फलदार पौधा दें। बिल्डर एसोसिएशन से भी तन मन धन से इस अभियान में शामिल होने की अपील की।

महापौर चंद्रशेखर अग्रवाल ने कहा कि अभी धनबाद में बहुत सारे पौधारोपण की आवश्यकता है। हर्ल को भी इस अभियान में शामिल किया जाएगा। उन्होंने बिल्डर एसोसिएशन से रेन वाटर हार्वेस्टिंग के निर्देश को गंभीरता से लेने की अपील की। महापौर ने कहा अब ग्रीन धनबाद बनाने का समय आ गया है।

बैठक में उप विकास आयुक्त शशि रंजन ने पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से जिले में जल शक्ति अभियान के तहत किए जा रहे कार्यों की जानकारी दी। वन प्रमंडल पदाधिकारी ने कहा कि धनबाद में वन भूमि एवं गैर वन भूमि पर वृहद पैमाने पर पौधारोपण किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि धनबाद में 900 हेक्टर प्राकृतिक वन भूमि में लगभग 200 पौधे प्रति हेक्टर लगाने का लक्ष्य है। अभियान के अंतर्गत एक लाख 80 हजार पौधे लगाए जाएंगे।

उन्होंने बताया कि गैर वन भूमि के बराकर एवं दामोदर नदी तट पर 10.69 किलोमीटर क्षेत्र में 64000 पौधे लगाए गए हैं। वहीं जमुनिया एवं दामोदर नदी के तट पर 4500 पौधे लगाने का लक्ष्य है। बैठक में अपर नगर आयुक्त ने बताया कि सात जुलाई से वृहद पैमाने पर नगर निगम द्वारा कार्य किया जा रहा है। इसमें वाटर हार्वेस्टिंग, झरिया, सिंदरी, कतरास, छाताटांड़ में कार्य जारी है। नगर निगम चरणबद्ध तरीके से प्रतिदिन पौधारोपण भी कर रहा है।

बैठक में जल शक्ति अभियान की केंद्रीय टीम के नोडल पदाधिकारी आनंद शेरखानी, प्रखंड नोडल पदाधिकारी कमलेश त्रिपाठी, तकनीकी पदाधिकारी विनय विद्यापति, उपायुक्त अमित कुमार, महापौर चंद्रशेखर अग्रवाल, उप विकास आयुक्त शशि रंजन, वन प्रमंडल पदाधिकारी विमल लकड़ा, अपर समाहर्ता श्याम नारायण राम, अपर समाहर्ता आपूर्ति संदीप कुमार दोराईबुरु, अपर नगर आयुक्त संदीप कुमार, निदेशक डीआरडीए संजय भगत, अपर जिला दंडाधिकारी विधि व्यवस्था राकेश दुबे, अनुमंडल पदाधिकारी राज महेश्वरम, बिल्डर एसोसिएशन के महासचिव अनिल सिंह, राजीव सहाय, राजेश सिंह, आलोक कुमार झा, संजय सिंह, अजय सिंह, बीसीसीएल, टाटा कोलियरी, एसीसी, सेल के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

बैठक में दिए गए दिशा निर्देश

- हर बिल्डिंग में हो रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम

- पानी बचाना हमारा संयुक्त दायित्व

- पौधे से करें बायो फेंसिंग

- पानी का दोहन करने वाले पौधे न लगाएं

- पर्यावरण संरक्षण के लिए बनाया जाएगा ग्रीन धनबाद फंड

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: mritunjay