धनबाद/ डुमरी, जेएनएन। पंजाब और हरियाणा से लाकर निमियाघाट के नगलो झरना और पारगो गांव में स्टॉक की गई भारी मात्रा में अंग्रेजी शराब बिहार सहित आसपास के इलाके में खपाने की तैयारी चल रही थी। इसकी सूचना उत्पाद विभाग के आला अधिकारियों को मिल रही थी।

बुधवार को रांची, हजारीबाग, धनबाद, बोकारो व गिरिडीह जिले की संयुक्त उत्पाद टीम व पुलिस ने छापेमारी कर शराब जब्त की। इसकी कीमत करीब डेढ़ करोड़ रुपये आंकी गई है। डुमरी के पूर्व उप प्रमुख सत्य नारायण महतो सहित सत्य नारायण पोल्ट्री फार्म के दो मजदूरों को हिरासत में लिया गया है। इस धंधे का सरगना व डुमरी का जिला परिषद सदस्य सह आजसू नेता वासुदेव महतो भाग निकला।

गिरिडीह के उत्पाद अधीक्षक अवधेश कुमार सिंह ने बताया कि विभाग को चार माह से शराब तस्करी की शिकायत मिल रही थी। चार जिलों के अफसरों की टीम ने संयुक्त रूप से सुबह करीब चार बजे मधगोपाली पंचायत के झरना निवासी अर्जुन मांझी, नगलो निवासी चैता बेसरा व सोमर मरांडी के आवास पर छापेमारी की। वहां से किंग्स गोल्ड, आइबी, ओसी ब्लू, आरसी, ब्लैंडर प्राइड की 2400 पेटियां मिलीं। मकान मालिक से पूछने पर बताया गया कि जिस मकान से शराब बरामद हुई उसे जिला परिषद सदस्य वासुदेव महतो ने डेढ़ हजार रुपये किराए पर लिया था। इस धंंधे में वासुदेव समेत कई लोग शामिल हैं। पूरे सिंडिकेट का पता लगाया जा रहा है। इसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। 

टीम में ये थे शामिल : छापेमारी टीम में गिरिडीह के उत्पाद अधीक्षक अवधेश कुमार सिंह, ललित सोरेन, मोहम्मद गुफरान, रांंची उत्पाद विभाग के इंस्पेक्टर संजीत कुमार देव, सब इंस्पेक्टर अभिषेक आनंद, असिस्टेंट सब इंंस्पेक्टर आशीष पांंडेय, धनबाद के सब इंंस्पेक्टर सनी तिर्की,  हजारीबाग के राजीव नयन, बोकारो के सब इंंस्पेक्टर महेश दास एवं निमियाघाट थाना प्रभारी विकास पासवान शामिल थे।

Posted By: Mritunjay

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस