जागरण संवाददाता, धनबाद: जिले में कोरोना वायरस का संक्रमण लगातार समुदाय को अपनी चपेट में ले रहा है। ऐसे में वैक्सीन को लेकर अधिक से अधिक लाभुक टीकाकरण केंद्र पर आ रहे हैं, लेकिन ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन में कई खामियां सामने आ रही हैं।

बेकार बांध निवासी अधिवक्ता अमर नाथ शर्मा 9 मार्च को अपने पिता शर्मा को कोविड-19 का लगवाने के लिए लेकर सदर अस्पताल गए थे। अमरनाथ के पिता अधिवक्ता राम प्रवेश शर्मा को टीका दे दिया गया। अमरनाथ में सोचा मैं भी टीका ले लूं। उन्होंने अपना आधार कार्ड वहां बैठे कर्मचारी को दिया। कर्मचारी ने रजिस्ट्रेशन किया और उसके बाद कहा कि आप फ्रंटलाइन वर्कर की श्रेणी में नहीं आते हैं। इसलिए आपको टीका नहीं मिलेगा और कहा कि आपका रजिस्ट्रेशन कैंसिल कर दिया गया है।

मोबाइल पर आया मैसेज, आपको मिल गया पहला डोज: यह वाकया खत्म होने के बाद 11 मार्च को अमरनाथ शर्मा के मोबाइल पर मैसेज आया। मैसेज में बताया गया कि आपको 3:32 पर कोविशील्ड का पहला डोज सफलतापूर्वक दे दिया गया है। मैसेज आने के बाद अधिवक्ता काफी परेशान हो गए कि उनका नाम सरकारी खाते में दर्ज हो गया है कि उन्हें टीका मिल गया, जबकि उन्हें टीका नहीं लगा। अब वह टीका नहीं ले पाएंगे, यह सोचकर वह परेशान हैं।

सिविल सर्जन को करेंगे शिकायत: अधिवक्ता ने बताया कि स्थानीय पदाधिकारियों को शिकायत की गई है इसके साथ ही आग सिविल सर्जन को इसकी शिकायत करेंगे। कहा कि अगर इस समस्या का समाधान नहीं हुआ तो इसकी शिकायत गृहमंत्री और प्रधानमंत्री को भी करूंगा।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021