सिदरी : बीआइटी सिदरी में सोमवार की आधी रात को छात्रावास की छत से गिरकर प्रोडक्शन ब्रांच द्वितीय वर्ष का छात्र अंकुश शर्मा गंभीर रूप से जख्मी हो गया। बीआइटी के छात्रों ने अंकुश को इलाज के लिए शीघ्र पीएमसीएच धनबाद में भर्ती कराया। चिकित्सक ने बेहतर इलाज के लिए उसे सुबह में रिम्स रांची रेफर कर दिया। बीआइटी प्रबंधन के अनुसार छात्र अंकुश को नींद में चलने की बीमारी है। इसी कारण वह छत से नीचे गिरा। अंकुश के छत से गिरकर जख्मी होने की सूचना पाकर उनके पिता अजय शर्मा खूंटी से मंगलवार की सुबह आठ बजे पीएमसीएच पहुंचे। इसके बाद पीएमसीएच के चिकित्सकों ने अंकुश को बेहतर इलाज के लिए रांची रेफर किया। बताते हैं कि सोमवार की देर रात लगभग दो बजे अंकुश अपने 26 नंबर छात्रावास के तीसरे तल्ले की छत से गिर गया था। अंकुश के छात्रावास में रहनेवाले सहपाठियों ने 108 नंबर की मदद से उसे पीएमसीएच पहुंचाया। अंकुश के दुर्घटना में घायल होने की सूचना आधी रात को ही चीफ वार्डन डॉ. पंकज राय, निदेशक डॉ. डीके सिंह को मिल चुकी थी। रात में ही बीआइटी प्रशासन पीएमसीएच पहुंचा। निदेशक ने पीएमसीएच के वरिष्ठ चिकित्सकों से मिलकर उचित इलाज का अनुरोध किया। डॉ. पंकज राय ने बताया कि पीएमसीएच धनबाद में जांच के बाद अंकुश के हाथ में फ्रेक्चर का पता चला। जांच के बाद चिकित्सकों ने अंकुश को खतरे से बाहर बताया। दुर्घटना के संबंध में पूछने पर चीफ वार्डन डॉ. पंकज ने कहा कि उसे नींद में चलने की बीमारी है। इस कारण घटना हुई।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप