जागरण संवाददाता, गोमो बाजार। आसनसोल से वाराणसी जा रही ईएमयू सवारी गाड़ी में रविवार को एक मां अपनी बच्ची को छोड़कर चली गई। बच्ची की उम्र करीब डेढ़ साल की है। गोमो स्टेशन पर खड़ी सवारी गाड़ी में बच्ची अकेले थे। यात्रियों ने आरपीएफ को सूचना दी। आरपीएफ की सहायक अवर निरीक्षक प्रेमा खेस और कांस्टेबल संजना कुमारी ने पहुंचकर बच्ची को गोद में उठा लिया। इसके बाद बच्ची के लिए दूध आदि की व्यवस्था की जा रही है। बच्ची की मां की तलाश की जा रही है। उसके मिलने तक बच्ची चाइल्ड लाइन में रहेगी।

सीट पर बच्ची के सोते ही महिला भाग निकली

गोमो रेलवे स्टेशन में रविवार की सुबह लगभग 9 बजे उस समय अजीबो-गरीब नजारा देखने को मिला जब एक मां ने अपनी ढेड़ वर्ष की मासूम बेटी को आसनसोल-वाराणसी ईएमयू सवारी गाड़ी की सीट पर सुलाकर कर गोमो स्टेशन से पूर्व भाग गई। अन्य यात्रियों ने इसकी सूचना रेल कन्ट्रोल को दी। गोमो स्टेशन पर ट्रेन रुकते ही आरपीएफ़ के सहायक अवर निरीक्षक प्रेमा खेस, कांस्टेबल संजना कुमारी बच्ची को लेकर पोस्ट चली आई। बच्ची का कपड़ा टॉयलेट से भींगा हुआ था। आरपीएफ़ ने तत्काल नया कपड़ा व पेम्पस पहनाया। बच्ची को चाइल्ड लाइन भेजने की तैयारी की जा रही है। बच्ची की मां की तलाश की जा रही है। बच्ची आरपीएफ़ के प्रेमा खेस की गोद में थी। बच्ची हंसती खेलती रही। उसे नही मालूम था कि मेरी मां कहां चली गई।  

बच्ची की मां की तलाश किया जा रहा है। फिलहाल बच्ची को चाइल्ड लाइन को सुपुर्द कर दिया जाएगा।

-शिंपी कुमारी, इंस्पेक्टर आरपीएफ़ (गोमो)

Edited By: Mritunjay