तिसरा : साउथ गोलकडीह व डीपू धौड़ा के अग्नि व भू-धंसान प्रभावित क्षेत्र में रहनेवाले 2004 कट ऑफ डेट के अनुसार पहले 47 परिवार के लोगों को विस्थापित किया जाएगा। इसकी सूची भी तैयार हो गई है। जल्द ही जेआरडीए के तहत लोदना क्षेत्रीय प्रबंधन प्रभावितों को आवास दिलाने का प्रयास करेगा। उक्त बातें लोदना क्षेत्र के अधिकारी केएन जयसवाल, नार्थ तिसरा के काíमक अधिकारी तारकेश्वर रजक व दिलीप निषाद ने शुक्रवार को साउथ गोलकडीह डीपू धौड़ा में स्थानीय लोगों से कही। मालूम हो कि यहां के लोगों ने निरसा के पूर्व विधायक अरूप चटर्जी को विस्थापन की समस्या से पिछले दिनों अवगत कराया था। इसके बाद गुरुवार को क्षेत्र के जीएम जीडी निगम ने यहां का दौरा किया था। जीएम ने आज अधिकारियों को भेजकर प्रभावितों की सूची  बनवाई। लोगों से कहा गया है कि सभी विस्थापन के लिए तैयार रहें। प्रबंधन सभी के कागजात आवास आवंटन के लिए जेआरडीए के पास जल्द भेज देगा। सभी को बेलगढि़या में आवास दिया जाएगा। हालांकि कई लोग ऐसे भी थे जिनके पास जेआरडीए की ओर से पूर्व में किये गये सर्वे का कार्ड था। लेकिन 2004 के पहचान पत्र नहीं होने के उन्हें सूची में शामिल नहीं किया गया। अधिकारियों ने कहा कि वैसे लोगों को आवास देने के लिए 2009 तक हुए सर्वे के अनुसार आवास देने का मामला वरीय अधिकारी देख रहे हैं। वरीय अधिकारियों के आदेश के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। मौके पर सपन पासवान, सीमा देवी, सरिता देवी, रेखा देवी, मोहन मोदक, सुधीर सिंह आदि थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस