जागरण संवाददाता, धनबाद। उपायुक्त संदीप सिंह ने जिले की ट्रैफिक व्यवस्था को सुगम बनाने के उद्देश्य से यात्री आटो का रूट निर्धारित कर दिया है। नया रूट 20 सितंबर से प्रभावी हो जाएगा। सभी आटो के आगे पहला एवं अंतिम पड़ाव लिखना होगा। साथ ही जिला प्रशासन द्वारा निर्गत यूनिक कोड स्पष्ट अक्षरों में आगे लिखना अनिवार्य होगा। इसके साथ ही आटो चालकों को अपने पास ड्राइविंग लाइसेंस और आटो के सभी कागजात हर समय रखने होंगे। गाड़ी चलाते समय चालकों को निर्धारित ड्रेस कोड में रहना होगा। उन्हें आसमानी रंग की शर्ट व काली फुलपैंट पहननी होगी।

ये है नया आटो रूट

  • सिंदरी, भौंरा, लोदना, पाथरडीह तथा मोहलबनी से आने वाले यात्री आटो का अंतिम ठहराव झरिया चार नंबर बस स्टैंड के पास होगा। वहां से धनबाद स्टेशन तक 400 आटो का परिचालन होगा।
  • कतरास की ओर से आने वाले आटो का अंतिम पड़ाव करकेंद मोड़ पर होगा। वहां से धनबाद स्टेशन आने वाले आटो की संख्या 100 होगी।
  • महुदा की ओर से आने वाले आटो का अंतिम पड़ाव पुटकी में होगा। पुटकी से करकेंद मोड़ होते हुए 250 आटो धनबाद स्टेशन तक आएंगे।
  • राजगंज, तोपचांची से आने वाले आटो का अंतिम पड़ाव बरवाअड्डा किसान चौक पर होगा। वहां से बस स्टैंड होते हुए धनबाद स्टेशन तक आने वाले आटो 200 होंगे।
  •  चिरकुंडा, निरसा, टुंडी तथा पूर्वी टुंडी से आने वाले आटो का अंतिम पड़ाव गोविंदपुर बाजार होगा। वहां से स्टील गेट होते हुए धनबाद स्टेशन तक 400 आटो आएंगे।
  • - बलियापुर से आने वाले आटो का अंतिम पड़ाव स्टील गेट होगा।
  • - भूली से धनबाद स्टेशन आने वाले आटो की संख्या 150 तय की गई है।

Edited By: Mritunjay