तोपचांची, जेएनएन। होनी को कुछ और ही मंजूर था। रविवार, 14 फरवरी को बिहार के नवादा के युवा स्वर्ण व्यवसायी अभय कुमार की शादी फाइनल होनी थी। उनके घर में इसकी तैयारी चल रही थी। रविवार को ही अभय कोलकाता से नवादा पहुंचने वाले थे। इसके लिए उन्होंने कोलकाता से बस में सवार होकर नवादा का सफर शुरू किया। धनबाद के तोपचांची थाना क्षेत्र में जीटी रोड पर चलती बस में डकैतों ने जेवरात लूटने के लिए अभय की हत्या कर दी। इसके साथ ही उनका जीवन का सफर ही समाप्त हो गया। और अभय की जगह नवादा स्थित उनके घर पर माैत की खबर पहुंची। घर में खुशियों की जगह मातम पसर गया। 

ऐसे हुई चलती बस में डकैती

कोलकाता से बिहारशरीफ जा रही बस में रविवार सुबह चार बजे सात डकैतों ने डकैती की। साथ ही नवादा निवासी स्वर्ण व्यवसायी अभय कुमार वर्मा की गोली मारकर हत्या कर दी। साथ ही नकदी व जेवरात समेत दो लाख की संपत्ति लूट ली। डकैत इसी बस में सवार थे। जीटी रोड पर तोपचांची के सतकिरा और निमियाघाट थाना के बीच शाने रहमत इलाके के समीप घटना को अंजाम दिया और भाग निकले। किसी प्रकार चालक बस लेकर डुमरी के मीना जनरल अस्पताल गया। वहां शव उतार दिया और अन्य यात्रियों को लेकर चला गया। बस में अभय के साथ सफर कर रहा साथी मनीष कुमार उसे लेकर अस्पताल पहुंचा। हालांकि तब तक अभय की मौत हो चुकी थी। गिरिडीह के डुमरी, निमियाघाट तथा धनबाद के हरिहरपुर व तोपचांची थाना की पुलिस ने घटनास्थल का मुआयना किया।  देर शाम धनबाद सिटी एसपी आर राम कुमार तथा गिरिडीह एसपी अमित रेणु तोपचांची थाना पहुंचे और मनीष से पूछताछ की। जांच के बाद मामला तोपचांची थाना का बताया। वहां के थानेदार सुरेश मुंडा को प्राथमिकी का निर्देश दिया।

नवादा के फरहा गांव के रहने वाले थे अभय

कपड़ा व स्वर्ण व्यवसायी मनीष ने बताया कि सभी डकैत बस में ही सफर कर रहे थे। वे सोने की दो अंगूठियां, एक चेन, सोने की मटर माला, सगाई का लहंगा व कपड़े ले गए। इनकी कीमत करीब दो लाख रुपये है। कोलकाता से शनिवार की रात बिहारशरीफ के लिए बस चली थी। नवादा के अकबरपुर थाना क्षेत्र के फरहा गांव के स्वर्ण व्यवसायी महेंद्र स्वर्णकार का पुत्र अभय कुमार और नवादा स्टेशन रोड का मनीष कपड़ा व जेवर की खरीदारी करने के बाद कोलकाता के मोहम्मद अली पार्क से दयाल बस में बैठे थे। खरीदारी को दो दिन पूर्व कोलकाता गए थे।

विरोध किया तो सीने में फायर कर दी की गोली

बस में दोनों दोस्त सो रहे थे। इस बीच डकैतों ने नकाब पहनकर चालक एवं खलासी पर पिस्टल तान दी। इसके बाद अभय व मनीष को निशाना बनाया। उनका बैग लूटने लगे। अभय ने जेवरात एवं कपड़ों से भरा बैग लूटने का विरोध किया तो एक ने सीने में गोली मार दी। फिर बस रोककर उतर गए और सभी पैदल ही भाग गए। माना जा रहा है कि डकैतों ने दोनों दोस्तों की रेकी की थी, इसीलिए सिर्फ उनको निशाना बनाया।

मनीष के बड़े भाई की सगाई को खरीदारी करने गए थे

मनीष के बड़े भाई की सगाई मंगलवार को है। इसलिए वह अभय को लेकर कोलकाता गया था। अभय की भी रविवार को शादी तय होनी थी। उसके परिवार में  माता पिता के अलावा एक भाई तथा दो बहनें हैं। बकौल मनीष, यात्रियों को चाय पिलाने के लिए बस गोविंदपुर में मां तारा होटल पर रुकी थी। इससे पहले बद्र्धमान में बस रुकने पर दोनों ने होटल में भोजन किया था। गोविंदपुर से जब बस चली तो सभी डकैत उठे। चार के हाथ में पिस्टल थी। कोलकाता से बस में चार व रास्ते में तीन डकैत बस में सवार हुए थे। पुलिस बस चालक, खलासी व अभय के स्वजनों से पूछताछ करेगी।

घटना तोपचांची में हुई है। जांच पड़ताल चल रही है। चार अपराधियों ने घटना को अंजाम दिया है।

-निशा मुर्मू, डीएसपी, बाघमारा

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021