धनबाद, जेएनएन। Protest Against Commercial Mining: कोयाल उद्योग में मान्यता प्राप्त सभी राष्ट्रीय मजदूर संगठन कॉमर्शियल माइनिंग का विरोध कर रहे हैं। इसके विरोध में 2 से 4 जुलाई तक कोल इंडिया में हड़ताल का आयोजन किया गया था। हड़ताल प्रभावी थी। हालांकि इस दाैरान करीब 40 से 45 प्रतिशत खनिक हड़ताल में शामिल नहीं हुए। इससे मजदूर संगठन तिलमिला गए हैं। वे हड़ताल का विरोध करने वाले खनिकों को चिह्नित कर तरह-तरह से दंडित कर रहे हैं। इसी क्रम में धनबाद में संयुक्त मोर्चा ने संयुक्त मोर्चा ने कुसुंडा एरिया के गोंदूडीह परियोजना के 24 कर्मियों को यूनियन से निष्कासित कर दिया है।

संयुक्त मोर्चा के हस्ताक्षर से जारी सूची में कहा गया है कि इन कर्मियों को किसी भी यूनियन में अब सदस्यता नहीं दी जाएगी। किसी भी यूनियन में पदाधिकारी बनने नहीं  दिया जाएगा। सबसे बड़ी बात है कि इस सूची में 10 तकनीकी कर्मचारी है,  जो ओवरमैन और माइनिंग सरदार पर पद पर कार्यरत हैं। यह तकनीकी कर्मी इनमोसा  से संबंधित होते हैं। उन्हें भी इसकी सूचना दी गई है । यह पहली बार है कि संयुक्त मोर्चा ने संयुक्त रूप से यह कठोर निर्णय श्रमिकों के खिलाफ लिया है।

Posted By: Mritunjay

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस