देवघर, जेएनएन। मोहनपुर प्रखंड के चकरमा (मोहनपुर हाट) निवासी एक युवक व उसकी मां को शुक्रवार को कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, मोहनपुर द्वारा प्राप्त प्रतिवेदन के आधार पर शनिवार को एसडीओ विशाल सागर ने डॉ. डी तिवारी देवघर एवं डॉ. सीडीएल दास, मोहनपुर, देवघर पैथोलोजी सहित मेंही डायग्नोस्टिक सेंटर को बंद कर दिया है। क्लीनिक व लैब के सभी चिकित्सक व कर्मियों को होम क्वारंटाइन में रहने का निर्देश दिया गया है। इन सभी को अगले आदेश तक क्वारंटाइन में रहने को कहा गया है।

दोनों संक्रमित मरीजों का इलाज देवघर व मोहनपुर स्थित स्वास्थ्य केंद्र में किया गया था। चिकित्सक की सलाह पर देवघर पैथोलोजी व मेंही डायग्नोस्टिक सेंटर में जांच की गई है। इस दौरान कई लोगों के संक्रमित मरीजों के संपर्क में आने की आशंका व्यक्त की जा रही है। स्वास्थ्य विभाग संक्रमितों के संपर्क में आए लोगों की पहचान करने में जुटी है। वहीं, एसडीओ ने आदेश की अवहेलना करते हुए पाए जाने पर संबंधित लोगों के खिलाफ आपदा प्रवधन एक्ट 2005 और भादवि की धारा 188 के तहत कार्रवाई की जाएगी।

अनुमंडल पदाधिकारी ने मोहनपुर व देवघर के इंसिटेंड कमांडर सह प्रखंड विकास पदाधिकारी व थाना प्रभारियों को उनके क्षेत्र से संबंधित क्लिनिक एवं जांच घर पर निगरानी रखने का निर्देश दिया है।बता दें कि युवक 20 जून को बहन के गिरिडीह गया था। वहां से आने के बाद 25 जून को उसे सर्दी-खांसी की शिकायत होने पर मोहनपुर स्थित स्वास्थ्य केंद्र में स्वाब कलेक्ट किया गया। मां-बेटा सहित पिता का सैंपल कलेक्ट किया गया था। 27 जून को मां-बेटे की रिपोर्ट पॉजिटिव पाए गए हैं।

ट्रूनेट में डॉ. डी तिवारी की रिपोर्ट निगेटिव

इधर इन मरीजों को इलाज करने वाले चिकित्सक डॉ. डी. तिवारी की ट्रूनेट जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। जांच रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद डॉ.तिवारी ने राहत की सांस ली है।

Posted By: Mritunjay

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस