धनबाद, जेएनएन। आइआइटी आइएसएम के दो छात्रों ने एक ऐसा देसी मोबाइल एप विकसित किया है जो न केवल कोविड-19 की व्यापक जानकारी देगा, बल्कि इससे संबंधित देश भर में चल रहे चिकित्सकीय सुविधाओं की भी पुख्ता जानकारी देगा। यह एप ऐसे वक्त में तैयार किया गया जब चाइनिज एप पर भारत ने प्रतिबंध लगा दिया है और भारतीय एप की मांग बढ़ रही है। इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग के बीटेक अंतिम वर्ष के छात्र राजन जायसवाल और अमन गुप्ता ने यह मोबाइल ऐप 'अपडेटिंग इंडिया' विकसित किया है।

इन दोनों ने लगभग 25 दिनों में दो चरण के बाद एप के पहले भाग को विकसित करने में सफलता हासिल की है। जिसके बाद इसका उपयोग भी किया जा सकता है। इस एप का फाइल आकार में लगभग 1.8 एमबी का है और दूसरे चरण के दौरान इस एप में काफी एडवांस सुविधााओं को शाामिल किया जाएगा। जिसके बाद क्यूआर कोड स्कैनिंग के आधार पर विभिन्न मार्केट प्लेस, व्यावसायिक प्रतिष्ठानों और रेस्तरांओं की स्थिति को भी शामिल किया जाएगा।

ऐप में चार मुख्य फीचर : राजन जायसवाल ने दैनिक जागरण को बताया कि उनके ऐप में अन्य ऐप की तुलना में कई फायदे हैं, जिसमें संक्रमण का शहर, शहर-वार डेटा और डेटा का विश्लेषण भी किया जा सकेगा। हमने अपने ऐप में चार मुख्य फीचर जोड़े हैं। इनमें जिला, राज्य और राष्ट्रीय स्तर पर कोविड 19 के आंकड़ों को नियमित अपडेट करेगा। ऐप इन सभी स्तरों पर कुल मामलों, पुनर्प्राप्ति मामलों, मौतों और सक्रिय मामलों के बारे में लाइव जानकारी प्रदान करेगा। जायसवाल ने कहा कि ऐप में सभी डेटा सरकार द्वारा समर्थित हैं। ऐप प्रत्येक स्तर पर रिकवरी और मृत्यु दर दिखाएगा और महामारी परिदृश्य का चित्र के साथ प्रतिनिधित्व प्रदान करेगा। जायसवाल ने कहा कि एप में कोई व्यावसायिक विज्ञापन नहीं होगा।

चिकित्सीय सुविधाओं के बारे में देगा जानकारी : यह एप उपयोगकर्ताओं को उनके राज्य की चिकित्सीय सुविधाओं के बारे में जानकारी देगा। जिसमें अस्पताल के नाम, अस्पताल में बिस्तर (लाइव नहीं), राज्य आपातकालीन हेल्पलाइन नंबर और बहुत कुछ शामिल होगा। उन्होंने कहा, इसके अलावा एप में एक उपयोगकर्ता के अनुकूल इंटरफेस दिया गया है जो आपको आवश्यक जानकारी तक आसानी से पहुंचने और बेहतर समझ के लिए डेटा की तुलना करने में मदद करेगा। इतना ही नहीं उपयोगकर्ता को उनके लिए प्रासंगिक जानकारी के साथ सूचित भी करेगा।

पूरी तरह से मेड इन इंडिया है यह ऐप : अमन गुप्ता ने कहा ऐसे समय में जब चीनी एप्स पर सरकार प्रतिबंध लगा रही है, हमें यह बताते हुए बहुत गर्व हो रहा है कि यह एप पूरी तरह से मेड इन इंडिया है और भारतीय लोगों के लिए है। हम दूसरे चरण के हिस्से के रूप में ऐप को और अधिक सुविधाएं प्रदान करने की कोशिश कर रहे हैं और एक क्यूआर कोड प्रणाली पर आधारित मॉल, रेस्तरां, बाजार-वार कोविद-संबंधी डेटा प्रदान करने के लिए एक अपडेट पर काम कर रहे हैं, लेकिन इसे लागू करने के लिए सरकारी मदद की आवश्यकता होगी।

Posted By: Sagar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस