धनबाद, जेएनएन। धनबाद-महुदा मार्ग में तेलमच्चो पुल के पास दामोदर नदी में गुरुवार को करीब 11 बजे स्नान करने के दौरान श्यामडीह निवासी सुकर महतो का पुत्र 13 वर्षीय पप्पु कुमार पानी के बहाव में बहने लगा। तब उसने बचाओ-बचाओ का शोर मचाना शुरू किया। कभी वह उपला रहा था तो कभी पानी के अंदर जा रहा था। यह देख उसका बहनोई बचाने के लिए नदी के किनारे दौड़ पड़ा। करीब डेढ सौ फीट की दूरी पर नदी में पड़ा पत्थर का सहारा पाकर पप्पु रुक गया। वहां बहनोई गमछा फेंककर उसको पकड़कर धीरे-धीरे किनारे आने को कहा, लेकिन पप्पु तब तक हिम्मत हार चुका था। उसके हाथ से गमछा छूट गया और पानी की धार के साथ बह गया।

घटना की जानकारी मिलते ही तेलमच्चो सहित पड़ोस गांव के लोग नदी के तट पर जुटे। लोगों ने अपने स्तर से नदी में खोजबीन शुरू की। महुदा, मधुबन व कपुरिया थाने की पुलिस भी मौके पर पहुंच गयी। ग्रामीणों ने गोताखोरों को शीघ्र बुलाने की मांग पुलिस अधिकारियों से की। इस बीच पप्पु के माता-पिता सहित अन्य परिजन भी वहां पहुंच गए। शाम करीब पांच मुनीडीह से सात गोताखोरों का दल नदी पर पहुंचा। दो घंटे तक नदी के अंदर ढूंढते रहे, लेकिन पप्पु का पता नहीं चल पाया। अंधेरा हो जाने के कारण गोताखोर नदी से उपर आ गए। शुक्रवार को पुन: खोजबीन किए जाने की बात कही गयी। इसके बाद परिजन, ग्रामीण व पुलिस वापस चली गयी।

पप्पू अपनी मां के साथ मौसी के यहां तेलमच्चो बुधवार को आया था। यहां वह अपने मौसेरा भाई अमित कुमार के शादी के पूर्व की रस्म अदायगी में भाग लेने के बाद दूसरे दिन गुरुवार को परिवार के तीन लोगों के साथ स्नान करने दामोदर नदी पहुंचा। वह इंटेक बेल के पास नदी में उतरा। साबुन लगाने के बाद आगे बढकर नदी में डूबकी लगाया। इसके बाद पानी की धार में बह गया। काफी प्रयास के बावजूद बहनोई उसे बचा नहीं पाए। घटना के बाद पप्पू का बहनोई सड़क पर दौड़कर आया और ग्राम रक्षा दल के अलावा घर वालों को फोन पर जानकारी दिया।

Posted By: Sagar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस