साहिबगंज, जेएनएन। ठेका-पट्टी विवाद में मुख्यमंत्री सह बरहेट के विधायक हेमंत सोरेन के विधायक प्रतिनिध पंकज मिश्रा और राज्य के ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम पर बरहड़वा थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है। इस प्रकरण में दो और प्राथमिकी दर्ज की गई है। यह दोनों प्राथमिकी विधायक प्रतिनिधि और मंत्री पर FIR दर्ज कराने वाले शंभु भगत के खिलाफ है। इस विवाद में गोड्डा के सांसद निशिकांत दुबे भी कूद पड़े हैं। उन्होंने ट्वीट कर मुख्यमंत्री से मंत्री आलमगीर आलम से इस्तीफा लेने की मांग की है। 

क्या है मामला

बरहड़वा नगर पंचायत में सोमवार को टेंडर डाला गया। कथित रूप से पाकुड़ निवासी शंभु भगत को टेंडर डालने से मना किया गया था। इसके बावजूद वह टेंडर डालने नगर पंचायत कार्यालय पहुंच गए। इसक दाैरान उनकी जमकर धुनाई हुई। इसी मामले में शंभु ने बरहेट के विधायक सह मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के प्रतिनिधि पंकज मिश्रा और पाकुड़ के विधायक सह मंत्री आलमगीर आलम सहित 11 के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है। दूसरी प्राथमिकी बरहड़वा निवासी दिलीप साहा के लिखित आवेदन पर पाकुड़ निवासी शंभु भगत पर दर्ज की गई है। तीसरी प्राथमिकी बरहड़वा  निवासी उदय कुमार हजारी ने शंभु भगत के खिलाफ दर्ज की गई है। 

बातचीत का आडियो हुआ वायरल

इस विवाद को लेकर एक ऑडियो वायरल हुआ है। इसमें मंत्री आलमगीर आलम, पंकज मिश्रा और शंभु भगत के बीच संवाद की बात कही जा रही है। इस बीच यह मामला राजनीतिक रंग भी लेने लगा है। भाजपा नेता गोड्डा के सांसद निशिकांत दुबे ने बरहड़वा प्रकरण को लेकर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से जांच का अनुरोध किया है। उन्होंने बातचीत का ऑडियो टेप भी जारी किया है। दुबे ने अपने ट्वीट में लिखा है कि मंत्री आलम से इस्तीफा करा लीजिए।

बरहड़वा नगर पंचायत में मारपीट के बाद तीन अलग-अलग शिकायत पत्र प्राप्त हुआ है। इसके आधार पर प्राथमिकी दर्ज की गई है। मामले की जांच की जा रही है। जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। 

-प्रमोद कुमार मिश्रा, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी। 

Posted By: Mritunjay

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस