धनबाद, जेएनएन। झरिया के विस्थापितों के लिए झरिया विहार के नाम से बसाए गए बेलगढिय़ा टाउनशिप में धर्म परिवर्तन को लेकर सोमवार को जमकर बवाल हुआ। स्थानीय लोगों ने यहां नवनिर्मित चर्च को घेर घंटों हंगामा किया। उनका आरोप है कि बेलगढिय़ा में धर्मांतरण की गतिविधियां काफी पहले से चल रही थीं। जिस जमीन पर चर्च बना है, वह भी छल से ली गई। दो दर्जन से अधिक परिवारों को ईसाई बनाया गया। सूचना पाकर समर्थकों के साथ सिंदरी विधायक इंद्रजीत महतो, विहिप के जिला मंत्री रमेश पांडेय, भाजपा नेता मुकेश पांडेय समेत कई लोग वहां पहुंचे। एक हजार से अधिक लोगों की भीड़ जमा हो गई। विधायक ने मामले की जानकारी लेकर लोगों से धैर्य बनाए रखने की अपील की। हालांकि उनके जाते ही आक्रोश में लोगों ने चर्च का धार्मिक चिह्न (क्रॉस) क्षतिग्रस्त कर दिया।

 

हंगामे के बीच पहुंचे ईसाई धर्म प्रशिक्षकों से हुई बहस : इस हंगामे के दौरान ही ईसाई मिशनरी के दो युवा धर्म प्रशिक्षक वहां पहुंचे। स्थानीय लोगों की उनसे भी बहस हुई। उनसे कहा गया कि वे स्वयं क्रॉस तोड़ दें। उनके इन्कार करने पर दोनों पक्षों में तीखी नोकझोंक हुई। प्रशिक्षकों में काइना पंसल अरुणाचल प्रदेश और सुशांत प्रधान ओडिशा के रहने वाले हैैं। दोनों बेलगढिय़ा में ही रह रहे थे। 

 

प्रशिक्षकों पर बढ़ता दबाव देख  साथ ले गई पुलिस : हंगामे के दौरान ही बलियापुर थाना प्रभारी जीसी घोष पहुंचे। उन्होंने लोगों को शांत कराने की कोशिश की। प्रशिक्षकों पर क्रॉस तोडऩे का बढ़ता दबाव देखते हुए थाना प्रभारी दोनों को सुरक्षा के दृष्टिकोण से साथ ले गए। उन्हें बलियापुर थाना में रखा गया है।

यह भी पढ़ें- उम्मीदों का शहर- झरिया विहार में शुरू हो गया धर्मांतरण का गंदा खेल, दो दर्जन को बनाया ईसाई

घटनास्थल पर पुलिस कर रही कैंप

करीब दो घंटे हंगामे के बाद थाना प्रभारी फिर घटनास्थल पर पहुंचे। उनके आने के एक घंटे बाद डीएसपी (विधि-व्यवस्था) मुकेश कुमार पहुंचे। नवनिर्मित चर्च के चारों तरफ पुलिस बल की घेराबंदी कर दी। देर शाम सिटी एसपी आर रामकुमार भी दलबल के साथ पहुंचे। घटनास्थल पुलिस छावनी में तब्दील हो चुका है।

हेमंत सरकार में तेज हुईं मिशनरी गतिविधियां 

मौके पर पहुंचे सिंदरी विधायक ने धर्मांतरण पर रोष जताया। कहा- हेमंत सरकार बनते ही मिशनरी गतिविधियों में तेजी आई है। लग रहा है कि यह झामुमो नहीं, मिशनरियों की सरकार है। उन्होंने कहा कि राज्य में धर्मांतरण पर रोक है। बावजूद दो दर्जन से अधिक परिवारों का धर्मांतरण कराया गया। इसके कारण समाज में आशांति फैल गई है। पुलिस धर्मांतरण में लिप्त लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करे अन्यथा भाजपा सड़क से सदन तक आंदोलन करेगी। 

स्थिति नियंत्रण में : एसएसपी

एसएसपी अखिलेश बी वारियर ने बेलगढिय़ा की स्थिति को नियंत्रण में बताया। उन्होंने कहा कि सिटी एसपी, डीएसपी के नेतृत्व में पुलिस टीम घटनास्थल पर है। सुरक्षा के दृष्टिकोण से दो लोगों को पुलिस अभिरक्षा में रखा गया है। जांच की जा रही है। जो भी दोषी होगा, उनके खिलाफ केस दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Mritunjay

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस