धनबाद, जेएनएन। अभी पिछले सप्ताह की ही बात है। नगर निगम से बिना एनओसी काम कराने और सड़कें डैमेज करने पर कड़ा रुख अख्तियार करते हुए जेएसपी एजेंसी का काम रोक दिया। सिर्फ यही नहीं, नुकसान की भरपाई के लिए 50 करोड़ रुपये का दावा भी ठोका। तत्काल प्रभाव से शहर भर में अंडरग्राउंड केबलिंग पर रोक लगा दी। बावजूद एजेंसी काम करा रही है। बाबूडीह, धैया-बरवाअड्डा रोड से लेकर झाड़ूडीह रोड में अंडर ग्राउंड केबलिंग के ड्रिलिंग का काम जारी है।

नगर निगम के आदेश को ठेंगा दिखाते हुए एजेंसी काम करा रही है। इसपर बिजली विभाग भी आंख मूंदे हुए है। आम लोग परेशान हैं। आए दिन राहगीर और स्थानीय लोगों से काम में लगे कर्मचारियों की तू-तू मैं-मैं हो जा रही है। इस मामले में नगर निगम के अधिकारी भी चुप्पी साधे हुए हैं। 

450 किमी होना है अंडरग्राउंड केबलिंग

झारखंड बिजली वितरण निगम लिमिटेड धनबाद, रांची, जमशेदपुर, रामगढ़, बासुकीनाथ और देवघर में 1270 करोड़ की लागत से अंडरग्राउंड केबलिंग करा रहा है। धनबाद में 450 किमी केबलिंग होना है। इसपर 300 करोड़ रुपये खर्च किए जा रहे हैं। पिछले चार माह से बिजली तार बिछाने का काम किया जा रहा है और अभी तक 147 किमी का काम हो चुका है। अंडरग्राउंड केबलिंग में हाई टेंशन तार यानी 11 केवीए और 33 केवीए को शिफ्ट किया जा रहा है।

Posted By: Sagar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस