कतरास : प्रशासकीय तंत्र की अनदेखी व बीसीसीएल की ढीली सुरक्षा व्यवस्था के चलते बीसीसीएल की परियोजनाओं से उत्पादित कोयले की लूट व चोरी पर रोक नहीं लग पा रही है। एसएसपी किशोर कौशल के सख्त आदेश के बावजूद बाघमारा अनुमंडल की पुलिस सक्रिय नहीं हुई। सीआइएसएफ भी हरकत नहीं आई है। नतीजतन रविवार को कतरास थाना अंतर्गत आकाशकिनारी के आउटसोर्सिग पैच के कोल डंप पर सैकड़ों महिला पुरूष बोरियों में कोयला भरकर पास के मोहल्ले में जमा करते देखे गए। इतना ही डंप से सटे मुख्य सड़क के समीप तक कई कोयले का ढेर भी देखा गया जिसे लोगों ने टपाकर वहां जमा किया था। इनके आगे कंपनी के निहत्थे प्राइवेट गार्ड बौने साबित हो रहे थे।

----------------

----बरोरा थाना अंतर्गत फुलारीटांड़ आउट सोर्सिंग परियोजना के खनन स्थल पर भी एक सौ से अधिक महिला पुरूष कोयला बोरियों में भरते और स्कूटर मोटर साइकिल से ले जाते देखे गए। सुबह चार बजे से दिन करीब 11 बजे तक परियोजना में उत्खनन का कार्य बाधित रहा। परियोजना में एक तरफ दर्जनों महिला-पुरूष अवैध ढंग से उत्खनन करते और बोरियों में भरकर ले जाते देखे गए। लेकिन पुलिस और ना ही सीआइएसएफ परियोजना में झांकने तक आई। मालूम हो कि परियोजना के प्रवेश द्वार से डेढ किलोमीटर दूर खनन स्थल है। ऐसे में वर्जित क्षेत्र में प्रवेश पर रोक के लिए सीआइएसएफ की तैनाती की प्रक्रिया कागज तक सिमट कर रह गयी है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस