भीमकनाली : मेरी मां ने दो अज्ञात महिलाओं के साथ साजिश रचकर मेरे भाई कृष्णा की हत्या कराई है। मैंने अपनी मां के साथ दो अन्य महिलाओं को भागते देखा है। ये बात भीमकनाली आवासीय कॉलोनी निवासी मृतक 17 वर्षीय कृष्णा सिंह की बहन सीमा देवी ने पुलिस को बताया। सीमा देवी की लिखित सूचना के आधार पर पुलिस उसकी सगी मां सरस्वती देवी व दो अज्ञात महिला के खिलाफ साजिश के तहत हत्या व साक्ष्य छिपाने की कोशिश के आरोप में कांड अंकित किया है।

मालूम हो कि बुधवार की रात करीब नौ बजे आवास से कुछ दूरी पर झाड़ी में खून से लथपथ अचेत हालत में कृष्णा मिला था। पीएमसीएच से रेफर किए जाने के बाद रिम्स ले जाने के क्रम में रास्ते में कृष्णा की मौत हो गई थी। उसके माथा पर गहरा चोट व गर्दन पर जख्म को देखकर संभावना जताई जा रही है कि ठोस पदार्थ से प्रहार कर उसकी हत्या की गई है। संदेह के आधार पर पुलिस मोहल्ले की दो महिलाओं को थाना लायी, जहां डीएसपी नितिन खंडेलवाल व इंस्पेक्टर रासबिहारी लाल ने पूछताछ किया। इसके बाद दोनों महिलाओं से निजी मुचलका लिखाकर थाना से भेजा गया। इधर पोस्टमार्टम कराने के बाद शव को परिजनों को सौंप दिया गया। जांच में प्रथम दृष्टया साजिश के तहत कृष्णा की हत्या और साक्ष्य नष्ट करने की कोशिश जान पड़ती है। क्या है प्राथमिक सूचना रिपोर्ट: बहन सीमा देवी ने अपने लिखित शिकायत में कहा है कि 12 फरवरी को दिन में अपने छोटे भाई कृष्णा को फोन किया तो उसने बताया कि आज अंडा भात खाने के बाद से मन ठीक नहीं लग रहा है। डॉक्टर से दिखाने की बात पर कहा कि बाघमारा मस्जिद में झाड़-फूंक कराए है। संध्या छह बजे पुन: भाई को फोन किया तो नहीं लगा। सात बजे अपनी मां सरस्वती देवी को फोन कर कृष्णा से बात कराने को कहा, तो मां ने कहा कि वह बाजार गया है। मां कृष्णा को देखना तक नहीं चाहती थी। जिससे संदेह हुआ और टेंपो रिजर्व कर पति जितेंद्र सिंह, गोतनी सुमन देवी के साथ जामडीहा से रात 8 बजे भीमकनाली पहुंची। आवास में ताला लगा था। बगल के जगदास, रवि कुमार, निखिल कुमार एवं अन्य चार पांच लोगों के साथ खोजने लगी। इस क्रम में पुराना स्कूल के पीछे चीखने की आवाज सुनकर पहुंचा तो देखा कि भाई कृष्णा खून से लथपथ था। वहां पहुंचते ही मेरी मां एवं दो अज्ञात औरत वहां से भाग गई। इसके बाद गांव वालों के सहयोग से गंभीर रूप से जख्मी भाई को इलाज के लिए स्वास्थ्य केंद्र बाघमारा पहुंचा। जहां से पीएमसीएच में उपचार के बाद रांची रेफर कर दिया गया। इलाज के लिए रांची ले जाने के क्रम में रास्ते में मृत्यु हो गई। =पिता नागेश्वर सिंह ने कहा हमलोग महुदा थाना क्षेत्र के जमडीहा के रहने वाले हैं। अपनी पत्नी से अनबन के कारण 2006 से अलग रह रहे है। कृष्णा तीन भाई बहन में सबसे छोटा था। बड़ा भाई संतोष कुमार सिंह राची में काम करता है। बहन सीमा देवी सबसे बड़ी है, जिसकी शादी जमडीहा महुदा में हुआ है। कृष्णा मैट्रिक पास किया है। वह अभी कुछ नही कर रहा था। उसको अपने पिता से भी लगाव था। सगी मां के द्वारा अपने बेटे की हत्या करने की बात अभी तक के जांच में सामने आई है। पुलिस सभी पहलुओं पर जांच कर रही है। हत्या में महिला के साथ पुरुष मित्र के भी शामिल होने की जांच की जा रही है। जल्द मामले का उद्भेदन किया जाएगा।

-नितिन खंडेलवाल, डीएसपी भाई की हत्या में मां एवं दो अन्य महिलाओं का हाथ है। पुलिस उसे कठोर सजा दिलाए ताकि निर्दयी माताओं को सबक मिले

- सीमा देवी, बहन

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस