धनबाद, जेएनएन। घूस लेते हुए अलकडीहा ओपी प्रभारी ललन प्रसाद का वीडियो वायरल हुआ है। वीडियो में दिख रहा है कि ओपी प्रसाद के सामने टेबल पर दो महिलाओं द्वारा रुपये रखे जा रहे हैं। इस मामले को गंभीरता से लेते हुए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के निर्देश पर ओपी प्रभारी को निलंबित कर दिया गया है। 

रिश्वतखोरी का एक वीडियो वायरल होने के बाद सीएम हेमंत सोरेन के निर्देश पर धनबाद एसएसपी ने अलकडीहा ओपी प्रभारी ललन प्रसाद को निलंबित कर दिया है। मामला 21 दिसंबर 2019 का है। मामले की जांच वरीय पुलिस अधिकारी कर रहे हैं। बताते हैं कि डेढ़ माह पूर्व हुए विवाद में जयरामपुर बीयर कंपनी मुहल्ला निवासी ऊषा देवी ने पड़ोसी पियारिया देवी के खिलाफ ओपी प्रभारी से शिकायत कर कार्रवाई की मांग की थी।

शिकायत के आधार पर पुलिस ने परशुराम भुइयां को पकड़कर हाजत में बंद कर दिया था। 24 घंटे के बाद प्रभारी ने पियारिया देवी से ऊषा देवी के खिलाफ शिकायत कराकर ऊषा देवी के देवर लखन भुइयां को ओपी ले आई थी। इसके बाद प्रभारी ने दोनों पक्षों के बीच समाज के प्रबुद्ध लोगों दीपक सिंह, रूपक सिन्हा, रंजीत आदि के माध्यम समझौता करा दिया था। इसके बाद प्रभारी ने दोनों पक्षों से पांच-पांच हजार रुपये की रिश्वत की मांग की थी। किसी ने इस बीच रिश्वतखोरी के पूरे मामले का मोबाइल से वीडियो बना लिया। बाद में इस वीडियो को कांग्रेसी नेता सह राकोमसं के लोदना क्षेत्रीय सचिव धर्मेंद्र सिंह ने वायरल कर दिया। इससे पुलिस महकमा में खलबली मच गई। मामला मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन तक पहुंचा।

वायरल वीडियो को संज्ञान में लेकर मुख्यमंत्री ने धनबाद के एसएसपी किशोर कौशल को मामले को गंभीरता से देखने को कहा। इसके बाद एसएसपी ने प्रभारी ललन प्रसाद को तत्काल निलंबित कर दिया गया। 

मामला दो महिलाओं के बीच पैसे के लेन-देन का था। दोनों के बीच विवाद हो रहा था। दोनों महिलाएं ओपी में आई। इसके बाद समाज के कुछ लोगों के माध्यम से समझौता कराया। उक्त राशि महिला को ही देने के लिए सभी के सामने लिया जा रहा था। गलत तरीके से वीडियो वायरल कर बदनाम करने की कोशिश की गई है। 

- ललन प्रसाद, पुलिस अधिकारी। 

Posted By: Mritunjay

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस