निरसा : निरसा के पलारपुर पंचायत सचिवालय में शनिवार को सरकार आपके द्वार कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसमें विभिन्न विभागों के अधिकारी पहुंचे और ग्रामीणों की समस्याएं सुनी। वहीं स्थानीय पुलिस के एक भी पदाधिकारी कार्यक्रम में नहीं पहुंचे। इससे आम लोगों में नाराजगी देखने को मिली। पदाधिकारियों ने केंद्र व राज्य सरकार की योजनाओं से अवगत कराते हुए लाभ प्राप्त करने की जानकारी दी। इस दौरान डीडीसी बालकिशुन मुंडा, विधायक अपर्णा सेनगुप्ता, मुखिया विश्वरूप मंडल ने संयुक्त रूप से पलारपुर पंचायत के तीन दिव्यांगों को ट्राई साइकिल और 21 लोगों को जॉब कार्ड वितरित किया। कार्यक्रम में पशुपालन से संबंधित 40, धान अधिप्राप्ति के लिए 10, पेंशन के लिए 20, राजस्व से संबंधित तीन, चापाकल मरम्मत के लिए एक, जॉब कार्ड बनाने के लिए 21, स्वास्थ्य जांच व राशन कार्ड में नाम चढ़ाने व नाम सुधारने के लिए 11 आवेदन प्राप्त हुए। डीडीसी बालकिशुन मुंडा ने ग्रामीणों को पंद्रह दिनों के अंदर आवेदन के निष्पादन का आश्वासन दिया। ग्रामीणों ने कार्यक्रम में पलारपुर उत्क्रमित मध्य विद्यालय को उच्च विद्यालय में उत्क्रमित करने की मांग रखी। गणेश स्थान से मदनपुर तक प्रधानमंत्री सड़क योजना से सड़क निर्माण की मांग की। पलारपुर पंचायत भवन से कमारडीह, पलारपुर पोखर से भालाइट, भालाइट से बथानडांगा तक पथ निर्माण करने की मांग उठाई गई। रतनपुर आदिवासी टोला के नीचे चेकडैम बनाने की मांग की गई। कार्यक्रम का संचालन बीडीओ विकास कुमार राय एवं प्रखंड पशुपालन पदाधिकारी डॉ. संतोष कुमार ने किया। कार्यक्रम में सांसद प्रतिनिधि संजय महतो, जिप सदस्य मिथुन रविदास, पंचायत समिति सदस्य टिकू राय, अंचलाधिकारी मुदस्सर नजर मंसूरी आदि मौजूद थे।

नॉन बैंकिग कंपनियों पर हो कार्रवाई

कार्यक्रम के दौरान सत्यवान भंडारी ने बताया कि उसका बेटा पैन कार्ड क्लब नामक नॉन बैंकिग कंपनी में काम करता था। स्थानीय लोगों ने उक्त नॉन बैंकिग कंपनी में निवेश किया। कंपनी यहां से भाग चुकी है। निवेशकों को मुझे घर से पैसे लौटाने पड़े। आज मेरा परिवार आर्थिक संकट से जूझ रहा है। नॉन बैंकिग कंपनियों पर कार्रवाई हो। डीडीसी ने कहा कि नॉन बैंकिग कंपनियों पर कार्रवाई हो रही है। यह मामला सीबीआई के हवाले है। बहुत जल्द आप लोगों के साथ इंसाफ होगा।

बरबिदया पुल का निर्माण, पांड्रा रेफरल अस्पताल जल्द हो चालू : अपर्णा

विधायक अपर्णा सेनगुप्ता ने कहा कि जल्द से जल्द बरबेंदिया पुल का निर्माण हो, ताकि कोयलांचल व संताल परगना एक दूसरे से जुड़ सकें। बरबेंदिया पुल के निर्माण के लिए विधानसभा में सवाल उठाऊंगी। पांड्रा स्थित रेफरल अस्पताल को जल्द से जल्द चालू कराया जाए। साथ ही जयपुर व मदनपुर स्थित उप स्वास्थ्य केंद्र में चिकित्सक की व्यवस्था हो।

थैलेसीमिया पीड़ित बच्चे को नहीं मिल रही सरकारी सुविधा

कार्यक्रम के दौरान थैलेसीमिया बीमारी से पीड़ित भालाइट निवासी तताई नाग की मां बेबी नाग ने फरियाद लगाई कि उनके बेटे को महीना में दो बार खून देना पड़ता है। आज तक सरकार से किसी प्रकार का कोई सुविधा नहीं मिली है। यही नहीं उनके देवर राजेश नाग अंधे हैं। उन्हें भी आजतक किसी प्रकार की कोई सुविधा नहीं मिल रही है। ना तो पीएम आवास योजना का सुविधा मिला है और ना ही राशन कार्ड बना है। इसपर डीडीसी बालकिशुन मुंडा ने तुरंत एमओ को बुलाकर उसका राशन कार्ड बनवाने का निर्देश दिया। आश्वासन दिया कि कल्याण विभाग से बीमारी से पीड़ित बच्चे के इलाज के लिए 10 हजार की व्यवस्था कराई जाएगी।

हुजूर, मेरी पोती मुझे दिलवा दीजिए

चारकोनिया निवासी सत्यवान भंडारी ने डीडीसी व विधायक से अपनी पांच वर्षीय पोती को दिलाने की गुहार लगाई। उन्होंने कहा कि उनकी पुत्र वधू की मौत 2017 में हो गई। उनकी पोती संचिता उर्फ दिया भंडारी को उसके नाना-नानी व मामा वर्ष 2018 में जबरन मेरे घर से उठाकर ले गए। जब भी अपनी पोती को लाने के लिए जाती हूं तो मारपीट की जाती है। इसे लेकर कई बार पंचायती भी हुई। वर्तमान समय में न्यायालय का शरण ले रखा है। कृपया कर मेरी पोती को मुझे वापस दिलवाया जाए। डीडीसी ने कहा कि मामला न्यायालय में लंबित है। फिर भी जितना बन पड़ेगा मदद करेंगे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस