बोकारो, जेएनएन। केंद्र और राज्य सरकार की संयुक्त पहल पर प्रवासी मजदूरों को उनके गृह जिला में विशेष ट्रेन के माध्यम से भेजने का कार्य जारी है। इसी क्रम में 13 मई को कर्नाटक राज्य के बेंगलुरु से स्पेशल ट्रेन चल कर झारखंड के बोकारो स्टील सिटी स्टेशन पहुंची। इस विशेष ट्रेन में झारखंड राज्य के विभिन्न जिलों के 1470 प्रवासी मजदूर सवार थे। जैसे ही स्पेशल ट्रेन बोकारो स्टेशन पर (सुबह 8.20) रुकी सभी प्रवासी मजदूरों के चेहरे खुशी से खिल उठे। प्रवासी मजदूरों को देखने से ऐसा लग रहा था जैसे सुबह की बेला ने उनके चेहरे पर नई मुस्कान ला दी हो। 

 

सुबह 4:00 बजे से ही प्रवासी मजदूरों की सेवा में लगा रहा बोकारो जिला प्रशासन 

जिला परिवहन पदाधिकारी संतोष गर्ग के नेतृत्व में प्रवासी मजदूरों को ले जाने हेतु सभी बसों का पूरी तरह से सैनिटाइज करते हुए उनको बोकारो रेलवे स्टेशन स्थित बस पड़ाव में लगा दिया। सभी बसों को उनके गंतव्य स्थान तथा जिलों को ले जाने की दिशा में जिला परिवहन पदाधिकारी के निर्देश पर उनको रूट चार्ट देते हुए उनमें मजदूरों की संख्या तथा उनके अल्पाहार की व्यवस्था सुनिश्चित कराई गई। रेलवे स्टेशन पर जिला प्रशासन के पद कार्य तथा कर्मियों की सुरक्षा हेतु मास्क,गल्पस, सैनिटाइजर भोजन आदि की व्यवस्थाएं उपलब्ध कराई गई पूरी व्यवस्थाओं का जायजा सुबह से ही अनुमंडल पदाधिकारी चास  शशि रंजन की देखरेख में किया जा रहा था।

सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन करते हुए सभी प्रवासी मजदूरों का किया गया मेडिकल स्क्रीनिंग

बोकारो रेलवे स्टेशन पहुंचे सभी प्रवासी मजदूरों का बोकारो जिला प्रशासन द्वारा भव्य स्वागत करते हुए उनका मेडिकल टीम द्वारा मेडिकल स्क्रीनिंग किया गया मेडिकल स्क्रीनिंग करने के क्रम में सभी प्रवासी मजदूरों के शरीर का तापमान मापते हुए उन्हें अल्पाहार करा कर उनके जिले के बसों में बैठा कर उन्हें उनके गंतव्य स्थल की ओर रवाना किया गया। जिला प्रशासन द्वारा सभी बसों में मजदूरों के लिए भोजन एवं पानी की व्यवस्थाएं उपलब्ध कराई गई।

झारखंड के कुल 24 जिलों में से कुल 1470 लोग आए

बेंगलुरु से बोकारो पहुंचे 1470 प्रवासी मजदूर व अन्य लोगों को बसों से उनके जिलों के लिए भेजा गया, जो जिलावार निम्न है :- गढ़वा के 181, पलामू के 201, लातेहार के 52, चतरा के 46, हजारीबाग के 63, कोडरमा के 11, गिरिडीह के 46,  रामगढ़ के 39 बोकारो के 175, धनबाद के 39, गुमला के 06, लोहरदगा के 01,  सिमडेगा के 00, रांची के 75, खूंटी के 02, पश्चिमी सिंहभूम के 79, सरायकेला-खरसावां के 36, पूर्वी सिंहभूम के 39, जामताड़ा के 08, देवघर के 75,  दुमका के 76,  गोड्डा के 190, साहेबगंज के 24 एवं पाकुड़ के 06 यात्री शामिल है। सभी मजदूरों को मेडिकल टीम के द्वारा स्कैनिंग कर सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन कराते हुए काम करते हुए उनके जिले में जिले के बसों में बैठा कर भेजा गया। आपको बताएं कि जिला प्रशासन द्वारा वापस लौटे मजदूरों को अपने-अपने घर भेजने के लिए 60 बसें का इंतजाम किया गया था।

बोकारो जिला प्रशासन ने सभी प्रवासी मजदूरों को घर रवाना किया

जिला प्रशासन बोकारो एवं रेल विभाग के प्रयास से सभी प्रवासी मजदूरों को उनके गृह जिला भेजने का कार्य किया गया। बोकारो रेलवे स्टेशन पर रेलवे प्रबंधन द्वारा यात्रियों को लेकर उनके गृह जिला भेजने हेतु रेलवे के सुरक्षा बल तथा कर्मियों द्वारा लगातार कार्य कर रहे हैं। बोकारो जिला प्रशासन द्वारा प्रवासी मजदूरों का उपायुक्त मुकेश कुमार के दिशा निर्देश पर भव्य स्वागत ने उनके मन को और अधिक प्रसन्न कर दिया। ट्रेन से उतरकर सभी प्रवासी मजदूरों ने केंद्र सरकार, राज्य सरकार एवं बोकारो जिला प्रशासन को धन्यवाद दिया। मजदूरों ने विशेष रुप से मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को बधाई देते हुए कहा कि हेमंत सरकार ने जिस प्रकार से प्रवासी लोगों के लिए कार्य किया है वह सराहनीय है। इस दौरान अपर समाहर्ता  विजय कुमार गुप्ता, डीपीएआर  पशुपतिनाथ मिश्रा, अनुमंडल पदाधिकारी चास शशिप्रकाश सिंह, जिला परिवहन पदाधिकारी श्संतोष कुमार गर्ग,  अंचलाधिकारी मनोज कुमार नजारत उप समाहर्ता  प्रभास दत्ता, पुलिस उपाधीक्षक मुख्यालय सतीश चंद्र झा, सभी जिला स्तरीय व प्रखंड-अंचल स्तरीय पदाधिकारियों, पुलिस बल के जवानों सहित टीम पीआरडी के सभी सदस्य एवं अन्य उपस्थित थे।

Posted By: Mritunjay

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस