बेरमो, जेएनएन। झारखंड के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने कहा कि झारखंड अधिविद्य परिषद (JAC) की ओर से दसवीं व बारहवीं का रिजल्ट जून के पहले सप्ताह में जारी कर दिया जाएगा। लॉकडाउन के दौरान पढ़ाई बाधित होने के कारण कक्षा एक से सातवीं तक के छात्र-छात्राओं को अगली कक्षा में प्रमोट किया जाएगा। दीक्षा पोर्टल के माध्यम से तीसरी कक्षा से आठवीं तक की पाठ्य पुस्तक ऑनलाइन उपलब्ध कराई जा रही हैं। यह बातें उन्होंने बुधवार को चपरी गेस्टहाउस में जिला शिक्षा पदाधिकारी (डीइओ), जिला शिक्षा अधीक्षक (डीएसई) व प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी (बीईईओ) के साथ आयोजित बैठक में कहीं।

 

मंत्री ने कहा कि यह प्रतिस्पर्धा का दौर है। इसमें सरकारी स्कूल के बच्चे पीछे न रहें। इसके लिए शिक्षण व्यवस्था में आधुनिकता का समावेश करने की जरूरत है। लॉकडाउन के दौरान घर में रहते हुए सरकारी विद्यालय के बच्चों का वक्त बर्बाद न हो, इसके लिए ऑनलाइन पढ़ाई कराना बेहतर विकल्प है। नई तकनीक के साथ मिलाकर चलते हुए सभी शिक्षक इंटरनेट के जरिए पढ़ाकर बच्चों का भविष्य संवार सकते हैं।

 

झारखंड राज्य के सरकारी विद्यालयों की ओर से डिजिटल शिक्षण का कार्य वाट्सएप एवं स्वयंप्रभा चैनल के माध्यम से किया जा रहा है। कुल 46 लाख बच्चों में मात्र छह लाख बच्चे ही जुड़ पाए हैं। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के दौरान उत्पन्न संकट से उबारने के लिए मध्याह्न भोजन के चावल के साथ ही राशि भी लगभग 31 लाख बच्चों को घर-घर जाकर उपलब्ध कराया गया। बच्चों के बर्बाद हुए समय की भरपाई के लिए स्कूल खुलने के बाद पांच घंटे की जगह सात घंटे पढ़ाई जाएगी। कहा कि शहरी क्षेत्र के जिन सरकारी विद्यालयों में छात्र-छात्राओं की संख्या के अनुपात में शिक्षक ज्यादा हैं। उसकी रिपोर्ट प्रस्तुत करें, ताकि उक्त शिक्षकों को अन्य विद्यालयों में नियुक्त किया जा सके। 

Posted By: Mritunjay

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस