संवाद सूत्र, सारठ : प्रखंड क्षेत्र के झिलुवा पंचायत अंतर्गत पड़ने वाले बरमसिया गांव के ग्रामीण कई महीनों से दूषित जल पीने को विवश हैं।

ग्रामीण अरुण कापड़ी, सुरेश कापड़ी, मानदेय कापड़ी, तुला कापड़ी, जतरी देवी, प्रकाश कापड़ी, रेणु देवी, गीता देवी, कमल कापड़ी, बिट्टू कापड़ी, पप्पू कापड़ी, बबलू कापड़ी, सागर कापड़ी समेत अन्य ने कहा कि गांव की लगभग तीन सौ आबादी एक ही चापाकल पर निर्भर है और वह भी खराब अवस्था में है। काफी प्रयास के बाद पानी निकलता है और भी दूषित। ऐसे में दूषित जल को पीने के लिए ग्रामीण विवश हैं। ग्रामीणों ने बताया कि इसके अतिरिक्त गांव में तीन और चापाकल हैं जो पिछले कई महीनों से खराब है।

कई बार विभाग से लेकर पंचायत प्रतिनिधि को अवगत कराया मगर समस्या जस की तस बनी हुई है। चापाकल पर पानी ले रही जतरी देवी ने बताया कि कई बार छानने के बाद भी पानी साफ नहीं होता है।

मजबूरन इसी दूषित जल को पीना पड़ता है। ग्रामीणों में भय है कि इस दूषित जल को पीने से ग्रामीण किसी गंभीर बीमारी का शिकार न हो जाएं। सभी ग्रामीणों ने स्थानीय विधायक रणधीर कुमार सिंह से समस्या के समाधान को लेकर पहल करने की गुहार लगाई है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021