मधुपुर : अनुमंडलीय अस्पताल व शालेम स्कूल प्रबंधन समिति के संयुक्त तत्वावधान में रविवार को विद्यालय परिसर में विश्व हृदय दिवस मनाया गया। एनीमिया मुक्त भारत के तहत एनीमिया जांच शिविर लगाया गया। चिकित्सकों ने उचित सलाह देते हुए छात्राओं के बीच आवश्यकतानुसार दवा का वितरण किया गया। ब्लड जांच में हीमोग्लोबिन, वीडीआरएल, एचआइवी एवं मलेरिया की जांच की गई। ब्लड जांच में अधिसंख्य छात्राओं में हीमोग्लोबिन की मात्रा कम पाया गया। जिन्हें दवाई प्रदान किया गया। साथ ही आवश्यक सलाह जैसे खान-पान पर विशेष ध्यान देने हरी सब्जी, फल एवं पौष्टिक आहार का सेवन करने की बात कही गई। तीन महीना बाद पुन: हिमोग्लोबिन जांच कराने का निर्देश दिया गया। इससे पूर्व विद्यालय निर्देशिका शीला पोनराज ने विश्व हृदय दिवस के उपलक्ष में हृदय संबंधित विस्तार पूर्वक जानकारी प्रदान की। डॉक्टर अरुण गुप्ता ने हृदय रोग के लक्षण और उसके उपचार के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि हृदय बीमारी से बचने हेतु नियमित रूप से शारीरिक क्रियाकलाप, अधिक मात्रा में पानी पीने, खान-पान पर विशेष ध्यान देने, बीमार अवस्था में पूर्ण दवा का पूर्ण कोर्स सेवन करने, ब्लड डोनेशन, सीमित वजन तथा सीमित निद्रा का सुझाव दिया। साथ ही धूम्रपान तंबाकू तथा शराब का सेवन करने से मना किया। दवा का अकारण उपयोग न करने की सलाह दी। अनुमंडल अस्पताल उपाधीक्षक डॉ सुनील कुमार मरांडी ने ह्रदय एनीमिया सहित अन्य बीमारियों के बचाव रोकथाम तथा सरकार द्वारा प्रदान की जाने वाली सुविधाओं के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दी। कार्यक्रम में डॉ इकबाल खान, एंटोनी फ्रांसिस दीपक डालमिया, संजय श्रीवास्तव, सुशील सुरेका, विनय कुमार, मंजीत कुमार, अजय कुमार दास, राजीव विनोद नीरज आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस