जागरण संवाददाता, देवघर : इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आइएमए) के आह्वान पर शुक्रवार को देवघर के चिकित्सकों ने राष्ट्रीय विरोध दिवस मनाया। इस दौरान चिकित्सकों व स्वास्थ्य कर्मियों ने काला बिल्ला, रिबन, काला शर्ट पहनकर पूर्व में और कोरोना काल के दौरान डॉक्टरों पर हिसा के विरोध प्रदर्शन किया। विरोध का थीम था- सेव द सेवियर्स (रक्षकों की रक्षा करो)। प्रदर्शन के दौरान चिकित्सक व स्वास्थ्य कर्मी कोविड नियमों का पालन करते हुए मास्क व शारीरिक दूरी का पालन किया। बाद में आइएमए की देवघर इकाई की ओर से प्रधानमंत्री के नाम एक मांग पत्र उपायुक्त को सौंपा। आइएमए के सचिव डॉ. गौरी शंकर ने बताया कि चिकित्सकों व स्वास्थ्य कर्मियों पर हिसा रोकने के लिए केंद्रीय कानून को यथाशीघ्र लागू करने की मांग की गई है। साथ ही अस्पताल को सुरक्षित क्षेत्र घोषित करने व ऐसे मामले के अपराधियों पर फास्ट ट्रैक कोर्ट के माध्यम से सुनवाई करते हुए सख्त सजा दी जाए। बताया कि मांग के संबंधित आवेदन की प्रतिलिपि स्थानीय जनप्रतिनिधिों को भी दी जाएगी। इसके साथ-साथ आइएमए सचिव ने लोगों से इलाज के दौरान असंतोषजनक परिणाम मिलने पर, हिसा नहीं करके उचित जगहों पर शिकायत करें या कानूनी प्रक्रिया का सहारा लेने की अपील की। ताकि चिकित्सक व स्वास्थ्य कर्मी सुरक्षित वातावरण में मरीजों को स्वास्थ्य सेवा प्रदान कर सकें। मौके पर सदर अस्पताल के उपाधीक्षक डॉ. बीपी सिंह, डॉ. एनसी गांधी, डॉ. प्रभात रंजन सहित अन्य चिकित्सक व स्वास्थ्य कर्मी मौजूद थे।

Edited By: Jagran