जागरण संवाददाता, देवघर : हवाई अड्डा के कारण विस्थापित हुए परिवारों को राज्य सरकार व जिला प्रशासन ने नैयाडीह में बसाने की योजना बनाई है। उन्हें हर हाल में दिसंबर तक बसाकर उनके जीविकोपार्जन के लिए सारी सुविधाएं दे दी जाएगी। कार्यो की प्रगति देखने के लिए अधिकारियों की टीम के साथ उपायुक्त राहुल कुमार सिन्हा मंगलवार को गांव पहुंचे।

नैयाडीह में निर्माणाधीन आंगनबाड़ी केंद्र, गेस्ट हाउस, स्वास्थ्य केंद्र, सामुदायिक भवन, स्कूल, पार्क एवं सड़कों के निर्माण कार्य को समय से पूरा करने को कहा गया। यह स्पष्ट कहा गया कि जब तक दुकान पूरी तरह बन नहीं जाए उसका संचालन नहीं हो। यहां सौभाग्य योजना के तहत सभी को मुक्त बिजली का कनेक्शन उपलब्ध करा दिया गया है। ट्रांसफार्मर एवं बिजली का पोल लगा दिया गया है। जानकारी हो कि यहां के लोगों को फूलों की खेती कराने में केवीके मदद कर रहा है। डीसी ने कहा कि गांव को जाने वाली सड़क के दोनों किनारे फूल लगें यह सुनिश्चित करें।

फूलों की खेती के लिए बाबा मंदिर के बेलपत्र एवं फूलों से बन रहे खाद का प्रयोग करने को भी कहा गया। कहा कि नैयाडीह में स्वच्छता का ख्याल रखा जाए। क्योंकि यह जिला ओडीएफ घोषित हो चुका है। बता दें कि बाबूपुर, कटिया के विस्थापित परिवार को भी नैयाडीह में बसाया जा रहा है। सभी विस्थापित परिवारों को 700 वर्गफीट जमीन पर प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत घर एवं सारी सुविधाएं दी जा रही है। अधिकारियों को इस बात की ताकीद की गयी कि वह लगातार गांव में चल रहे कार्यो की मानीट¨रग करते रहें। मौके पर आइएएस प्रशिक्षु हेमंत सत्ती, भूमि सुधार-उपसमाहत्र्ता अनिल कुमार यादव, कृषि विज्ञान केन्द्र के समन्वयक पीके सनीग्रही, संबंधित विभाग के कार्यपालक अभियंता एवं संबंधित विभाग के अधिकारी साथ थे।

Posted By: Jagran