देवघर, जेएनए। सदर अस्पताल में इलाज के क्रम में गुरुवार को देवघर के विधायक नारायण दास की सास उमा देवी की मौत हो गई। इस घटना से भड़के लोगों ने हंगामा शुरू कर दिया। विधायक ने चिकित्सक पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगा कहा कि उमा देवी को खाली ऑक्सीजन सिलिंडर लगाया गया। और तो और उनको आइसीयू में भर्ती नहीं किया। इसी कारण उनकी जान चली गई।

सूचना पाकर उपायुक्त नैंसी सहाय, एसडीओ विशाल सागर, एसडीपीओ विकास चंद्र श्रीवास्तव, इंस्पेक्टर सह नगर थाना प्रभारी विक्रम प्रताप सिंह पहुंचे। डीसी ने सिविल सर्जन डॉ. विजय कुमार व उपाधीक्षक डॉ. एसके मेहरोत्र से जानकारी ली। ऑक्सीजन सिलिंडर व रजिस्टर जब्त किया है। उपायुक्त ने समझा-बुझाकर माहौल को शांत कराया। उमा देवी को गंभीर हालत में इलाज के लिए अस्पताल लाया गया था।

फोन पर बात होने के बाद भी आइसीयू में भर्ती नहीं किया

विधायक का कहना है कि ऑक्सीजन का खाली सिलिंडर लगाकर इलाज के नाम पर खानापूर्ति की गई। फोन पर पहले ही सीएस को गंभीर हालत के बारे में बताया था। आइसीयू में भर्ती करने की बात हो गई थी। उसके बाद ही उन्हें सदर अस्पताल लाया गया था। यहां उन्हें आइसीयू में भर्ती नहीं किया गया बल्कि वार्ड में दाखिल किया गया। दिखावे के लिए खाली ऑक्सीजन सिलिंडर को लगाया गया था। इलाज में लापरवाही से जान चली गई।

विधायक की सूचना पर यहां पहुंचे थे। दो-ढाई घंटा पूर्व उनकी सास को इलाज के लिए अस्पताल लाया गया था। यहां उनकी मौत हो गई। जांच के क्रम में ऑक्सीजन सिलिंडर खाली पाया। डॉक्टर ने इलाज के तहत दवा आदि दी थी। खाली ऑक्सीजन सिलिंडर लगाया गया था कि नहीं, यह जांच का विषय है। जांच कर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

-विशाल सागर, एसडीओ, देवघर

गंभीर हालत में इलाज के लिए लाया गया था। आइसीयू में बेड खाली नहीं था, तब वार्ड में शिफ्ट किया गया था। डॉक्टर ने इलाज भी किया। सिलिंडर खाली होने व इलाज में लापरवाही के आरोप की जांच कराई जा रही है। जांच के उपरांत आगे की कार्रवाई की जाएगी।

-डॉ. एसके मेहरोत्र, उपाधीक्षक सदर अस्पताल

Posted By: Mritunjay

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस