करौं (देवघर): प्रखंड मुख्यालय स्थित बीआरसी में बुधवार को जिला शिक्षा अधीक्षक छटू विजय ¨सह ने परिवर्तन दल एवं शिक्षकों की बैठक की। इसमें उन्होंने स्वच्छता पखवाड़ा, ई-विद्यावाहिनी, ज्ञान सेतु आदि पर विस्तारपूर्वक चर्चा किया। कहा कि बच्चों को गुणवत्तायुक्त शिक्षा देने की जिम्मेदारी शिक्षकों की है। इसके लिए ईमानदारी व कर्तव्यनिष्ठ होकर काम करना होगा। चरित्रवान बनाने में शिक्षकों की भूमिका अहम होती है। वैसे शिक्षक समाज में सम्मान पाने के हकदार होते हैं। उन्होंने सभी शिक्षकों से सरकार के निर्देशानुसार कार्य करने की सलाह दी। इस दौरान डीएसई ने स्वच्छता पखवाड़ा के तहत आयोजित कार्यक्रम स्वच्छ पेयजल दिवस की जानकारी ली। उन्होंने शिक्षकों से विद्यालय परिसर को साफ-सुथरा रखने को कहा। वहीं टैब व बायोमीट्रिक डिवाइस के रजिस्ट्रेशन पर जोर दिया। कहा कि 14 सितंबर से झारखंड में ज्ञानसेतु कार्यक्रम लांच हो रहा है। प्रखंड के सभी शिक्षकों को प्रशिक्षित किया गया है। अब ज्ञानसेतु के तहत बच्चों को शिक्षा देनी होगी। मौके पर राज्य साधन सेवी विनोद दास, मुख्यमंत्री जनसंवाद के जिला प्रभारी ¨पकू राम, बीईईओ विनोद कुमार तिवारी, परिवर्तन दल सदस्य नीरज कुमार, आशीष कुमार बल, अरूणा इंद्राणी, विभूति ¨सह, राहुल दास आदि उपस्थित थे।

Posted By: Jagran