जागरण संवाददाता, देवघर: देश के द्वादश ज्योतिर्लिंग में एक बाबा बैद्यनाथ की नगरी में हेमंत हटाओ, झारखंड बचाओ का संकल्प भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में लिया गया। प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने एलान किया कि मार्च में रांची की सड़क पर हेमंत हटाओ झारखंड बचाओ का विशाल प्रदर्शन किया जाएगा। इसमें भाजपा के कार्यकर्ता ही नहीं पूरे प्रदेश की लाखाें जनता भी शामिल होगी।

हेमंत सरकार के राज में थानों की लग रही बोली

उन्होंने कहा कि झारखंड में जंगल राज है। राज्य में अराजकता की स्थिति है। कानून व्यवस्था चरमरा गयी है। कोयला और बालू वाले इलाके के थानों की बोली लग रही है। इतना ही नहीं अधिकारियों को भी हर महीने पद पर बने रहने के लिए रीचार्ज कराना होता है। सरकार ने प्रशासन को पशु तस्कारों को नहीं पकड़ने का निर्देश दे रखा है। अब जनता रघुवर दास, अर्जुन मुंडा और बाबूलाल मरांडी के कार्यकाल से वर्तमान सरकार की तुलना कर रही है।

पावन स्थल पर बैठक काफी मायने रखती है

प्रेस वार्ता में प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि सरकार के खिलाफ बिगुल फूंकने की तारीख और स्थान का महत्व है। शिव-शक्ति के पावन स्थल पर स्वामी विवेकानंद के पराक्रम दिवस पर यह बैठक काफी मायने रखता है। देवघर आकर महात्मा गांधी को आजादी की लड़ाई लड़ने के लिए नई ऊर्जा मिली थी। भाजपा भी अपने पराक्रम और उर्जा को बढ़ाने के लिए और राज्य व देश की सेवा करने का संकल्प दोहराया है।

संगठन के विस्तार पर हुई चर्चा

उन्होंने कहा कि दो दिवसीय बैठक में संगठन के विस्तार और उसको धार देने की चर्चा हुई। इसके अलावा 27 जनवरी को प्रधानमंत्री की परीक्षा पर चर्चा से ज्यादा से ज्यादा अभिभावक और परीक्षार्थी जुड़ें, इसके लेकर भी चर्चा की गई। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के मन की बात को सभी बूथों पर मनाने का निर्णय लिया गया है।

बूथ से पंचायत तक पार्टी बढ़ाएगी अपनी ताकत

संगठन पर जोर देते उन्होंने कहा कि बूथ से पंचायत तक पार्टी अपनी ताकत बढाएगी। इसके लिए राजनीतिक प्रस्ताव पारित किए गए हैं। सेवा, सुशासन और गरीब कल्याण मोदी सरकार की योजनाओं से जनता तक पहुंचाने का कार्य और तेजी से होगा।

सीएम कब ले रहे संन्यास

प्रदेश अध्यक्ष ने चुटकी लेते हुए कहा कि मुख्यमंत्री ने कहा था कि सरकार बनाने के बाद नौकरी देंगे नहीं तो राजनीति से संयास ले लेंगे। उन्होंने पूछा कि वह जगह और तारीख क्या होगी। सरकार से उन्होंने मांग की कि ट्रिपल टेस्ट के बाद ही सूबे में नगर निगम चुनाव हो क्योंकि बिना ओबीसी आरक्षण के पंचायत चुनाव करा लिया गया था।

Edited By: Mohit Tripathi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट