देवघर : बजट में गोड्डा संसदीय क्षेत्र को कई नई रेलवे लाइन की न सिर्फ सौगात मिली है, बल्कि राशि का भी प्रावधान कर दिया गया है। जिन योजनाओं को लेकर प्रयास किया गया जा रहा था, उसे सरकार ने बजट में लेकर धार्मिक नगरी अजगैबीनाथ, पारसनाथ जैसे तीर्थस्थल से भी जोड़ने का काम किया है। तकरीबन एक हजार करोड़ की इन योजनाओं में देवघर, सुल्तानगंज, रामपुरहाट, मंदारहिल, सुल्तानगंज, कटोरिया, पीरपैंती जसीडीह, चितरा, बासुकीनाथ। मधुपुर-गिरिडीह-मधुबन पारसनाथ नई रेल लाइन का काम शुरू होगा। साथ ही कई निचले पुल को ऊपरी सड़क पुल बनाने के लिए भी राशि दे दी गई है। जसीडीह एवं मधुपुर स्टेशन पर एस्केलेटर (स्वचालित सीढ़ी) के साथ-साथ जसीडीह स्टेशन पर वा¨शग पिट की भी स्थापना होगी। रामपुरहाट-मंदारहिलवाया दुमका 130 किमी) को भी बजट में लिया गया है। धनबाद-गिरिडीह नई रेल लाइन के सर्वे का भी कार्य होगा।

------------

इनसेट

एक नजर में योजनाएं

देवघर-सुल्तानगंज, बांका से बराहाट बिथिया रोड सहित 147 किमी स्वीकृत लागत- 5196600 (राशि हजार में)

पीरपैंती-जसीडीह (97 किमी) स्वीकृत लागत- 915,9800

चितरा-बासुकीनाथ (37 किमी) स्वीकृत लागत- 4294900

गोड्डा-पाकुड़ (80 किमी) स्वीकृत लागत- 86,19900

पारसनाथ-मधुबन-गिरिडीह (35 किमी)

स्वीकृत लागत- 3645000

-----------

दोहरी लाइन

साहिबगंज-पीरपैंती (10.45 किमी)

पीरपैंती-भागलपुर (59.06 किमी)

------------

मधुपुर-जोरामऊ ऊपरी सड़क पुल

शंकरपुर-जसीडीह ऊपरी सड़क पुल

सत्सनंगर-बैद्यनाथधाम- ऊपरी सड़क पुल

---------

कोट-

गोड्डा लोकसभा की योजना को एक हजार करोड़ मिला है। जिसमें हंसडीहा-गोड्डा, पीरपैंती-जसीडीह, चितरा-बासुकीनाथ, गोड्डा- पाकुड़। मधुपुर-गिरिडीह, मधुबन-पारसनाथ नई लाइन। बटेश्वर पुल, जसीडीह स्टेशन को नया रास्ता। रोहिणी बाइपास मधुपुर व जसीडीह में एस्केलेटर, देवघर में वा¨शग पिट, सभी रेलवे ओवर ब्रिज के लिए छप्पर फाड़ कर केंद्र सरकार ने धन दिया है। धनबाद-गिरिडीह नई रेल लाइन के सर्वे को भी मंजूरी दी गई है। विशेष तौर पर प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री व रेल मंत्री का आभार।

निशिकांत दुबे, सांसद

Posted By: Jagran