देवघर : थाना क्षेत्र के जियाखाड़ा गांव में रविवार को गोचर जमीन पर अपना-अपना दावेदारी को लेकर दो गुटों में मारपीट का मामला सामने आया है। इस घटना में चार लोग घायल हो गए।

बताया जाता है कि उक्त गोचर जमीन का एक पक्ष द्वारा खलिहान के रूप में उपयोग किया जा रहा था। इसके बाद कुछ और लोगों की नजर उस जमीन पर पड़ गई तथा उस जमीन को उपयोग में लाने को लेकर विरोध किया जाने लगा। इसी मामले को लेकर सारवां थाना में बसंत सिंह, विनोद सिंह, कुंदन वर्मा, अनिल वर्मा आपस में भिड़ गए। जमकर मारपीट हुई, जिसमें चार लोग घायल हो गए। मामले की जानकारी देते बसंत सिंह ने कहा कि गोचर जमीन के बगल में उनका जमाबंदी जमीन है। आने-जाने के लिए खाली गोचर जमीन का उपयोग किया जाता है। लेकिन इस पर एक पक्ष द्वारा घेर दिया जाता है। जिसे बार-बार उखाड़ने के बाद भी कुछ नहीं सुनता है। हर बार जमीन का घेराव कर लिया जाता है। इसी मामले को लेकर रविवार को दूसरे पक्ष द्वारा उसका घेराव किया जा रहा था, मना करने पर गालीगलौज करने लगे। इसी में तू-तू, मैं-मैं हुई और दोनों के बीच मारपीट हो गई। थाने में आवेदन देकर न्याय की गुहार लगाई है। उधर दूसरे पक्ष के अनिल वर्मा ने कहा कि उक्त जमीन पर पिछले तीन-चार साल से अस्थाई रूप से खलियान बनाकर पुआल वगैरह रखने का कार्य करते हैं। खलिहान उक्त जमीन पर नहीं करने दिया जा रहा है। इसीको लेकर विवाद में मारपीट हो गई। थाना प्रभारी देवेंद्र कुमार सिंह ने कहा कि दोनों पक्षों से आवेदन प्राप्त हुआ है, मामले की पड़ताल कर दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी। गोचर भूमि पर किसी का अधिकार नहीं होता है। इसकी जानकारी अंचल कार्यालय को दी जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस