देवघर : राजकीय शिक्षक प्रशिक्षण महाविद्यालय के मैदान में बीते मंगलवार को हुई फायरिग मामले में नगर थाना पुलिस ने त्वरित कार्रवाई कर सात में से पांच आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि मुख्य आरोपी नंदन पहाड़ के समीप का रहने वाला राजा सिंह राजपूत सहित बरमसिया का रहने वाला अमर पुलिस के पकड़ से बाहर है। पकड़े गए आरोपितों में नंदन नगर प्रतीक सिंह, गांधीनगर का पियूष सिंह, सलोनाटांड का राहुल सिंह राजपूत, कुम्हारटोली निवासी उपदेश कुमार व नंदन पहाड़ निवासी कृष्ण कुमार शामिल है। इनके पास से तीन मोटरसाइकिल व छ: मोबाइल बरामद किए गए हैं। पुलिस ने बताया कि राजा सिंह राजपूत पर पूर्व में भी मारपीट व छिनतई आदि के आरोप लग चुके हैं। सभी आरापितों की उम्र 22 साल से कम बताई जा रही है और सभी आरोपित बीएड कॉलेज में जन्मदिन की पार्टी मनाने गए थे। नगर थाना पहुंचे अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, देवघर विकास चंद्र श्रीवास्तव से परिजनों ने गुहार लगाई कि उनके बच्चे निर्दोष हैं। इस पर एसडीपीओ ने कहा कि निश्चिंत रहें किसी भी निर्दोष के खिलाफ कार्रवाई नहीं की जाएगी।

जानलेवा हमला व आ‌र्म्स एक्ट का मामला दर्ज : विलियम्स टाउन कृष्णापुरी के रहने वाले मनीष कुमार राय के बयान पर इस मामले में जानलेवा हमला व आ‌र्म्स एक्ट का मामला दर्ज किया गया है। मनीष ने कहा कि बीते तीन दिसंबर की शाम 3.30 बजे हर दिन के तहत बीएड कॉलेज मैदान में वालीबॉल खेलने गए थे। साथियों के साथ वालीबॉल खेल रहे थे कि शाम 4.45 बजे वालीबॉल कोट पर सात लड़के दो अपाची व एक स्कूटी से घुस गए। मना करने पर राजा सिंह राजपूत अपनी बाइक से उतरकर आया और मनीष का कॉलर पकड़कर कनपटी पर पिस्तौल सटा दिया और अनाप-शनाप बोलने लगा। इस दौरान जान मारने की नीयत से गोली चला दी गई। गोली की आवाज सुनते क्रिकेट आदि खेल रहे लोग बचाने के लिए दौड़ पड़े। उन्हें देखकर सभी अपनी गाड़ी से भाग निकले। इसमें प्रतीक का गाड़ी गिर गया और उनके गाड़ी पर बैठ गया। तीनों लोग प्रतीक, राहुल व पियूष को भीड़ ने पकड़ लिया और थाना के हवाले कर दिया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप