सारठ (देवघर) : बीते गुरुवार को चितरा थाना क्षेत्र के राखजोर गांव में विवादित जमीन पर धान काटने को लेकर हुई खून संघर्ष में 30 वर्षीय युवक परमेश्वर मंडल की मौत हो गई थी। मारपीट में घायल उसके भाई साधु मंडल का इलाज रांची में चल रहा है। इस घटना के बाद से परमेश्वर के घर में मातम पसरा है। घटना के दिन से ही उसके घर में चूल्हा नहीं जला है और उसके घरवालों ने अन्न ग्रहण नहीं किया है। आसपास के लोग परिजनों को सांत्वना देने घर पहुंच रहे हैं। शनिवार को पंचायत के मुखिया हितलाल रवानी व विधायक प्रतिनिधि रघुनंदन ¨सह ने परिजनों से मिलकर ढांढस बंधाया तथा गांव के डीलर से तत्काल पीड़ित परिवार को 25 किलो अनाज दिलाया। उन्होंने अन्य सरकारी लाभ दिलाने का भी आश्वासन दिया।

मां को सता रही घायल बेटे की ¨चता ग्रामीणों के अनुसार घायल साधु मंडल की स्थिति भी काफी ¨चताजनक बताई जा रही है। उसका इलाज रांची में चल रहा है। बूढ़ी मां का कहना है कि एक बेटा तो नहीं रहा, वहीं दूसरे की हालत भी गंभीर है। अब वह किसके सहारे अपनी ¨जदगी काटेगी। परमेश्वर के बच्चों का देखभाल कौन करेगा। यही सोचकर वे बार-बार विलाप कर रही है। इधर पूरे गांव में सन्नाटा पसरा है। सभी कोई एक ही बात कह रहे हैं गांव में जो कुछ हुआ वह मंजर कभी नहीं भूल पाएंगे। इधर पुलिस गांव में कैंप हुई है।

आरोपियों को नहीं पकड़ पाई पुलिस टीम

हत्याकांड के आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए चितरा, सारठ, पालोजोरी, सोनारायठाढ़ी, मारगोमुंडा आदि थाना की पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है। मामले पर एसडीपीओ अशोक कुमार ¨सह खुद नजर रखे हुए हैं। सधरिया गांव के विदेशी मंडल को सारठ थाने में लाकर पूछताछ की जा रही है। विदेशी का ससुराल राखजोर गांव में आरोपी के परिवार में बताया जाता है। मालूम हो कि इस मामले में 22 नामजद व 50 अज्ञात पर मामला दर्ज किया गया है।

------------------------

पीड़ित परिवार काफी गरीब है। नियम के अनुसार जो भी बन पाएगा, परिजनों को मदद की जाएगी।

धनंजय पाठक, अंचलाधिकारी।

By Jagran