देवघर : आदर्श कॉलोनी में चल रहे श्रीमद भागवत कथा का सोमावर को समापन हो गया। वृंदावन से पधारे रामलोचन पाराशर ने दीपावली की शुभकामनाएं दीं और कहा कि दीपावली खुशियों का त्योहार है, इसे मिल-जुलकर मनाएं। ईष्र्या करने से और करने वालों से बचें। यह एक दीमक की तरह होती है जो आपको ही नही अपितु पूरे समाज को नष्ट करती है। हमारे आने वाली पीढ़ी पर भी इसका प्रभाव पड़ता है। किसी की उन्नति, वैभव को देखकर ईष्र्या ना करे, क्योंकि आपकी ईष्र्या से दूसरों पर तो कोई फर्क नहीं पड़ेगा मगर आपका स्वभाव जरूर बिगड़ जाएगा। किसी दूसरे की समृद्धि या उसकी किसी अच्छी वस्तु को देखकर यह भाव आना कि यह इसके पास ना होकर मेरे पास होनी चाहिए थी, बस इसी का नाम ईष्र्या है। इसी के साथ कथा का समापन करते हुए भव्य हवन का आयोजन किया गया। जिसमें समस्त आदर्श कॉलोनी के कथा श्रोताओं द्वारा सुख, शांति व समृद्धि के लिए हवन में आहुति दी गई। कथा के सफल संचालन में अध्यक्ष नारायण झा भगत, सचिव मृत्युंजय झा, उपाध्यक्ष कन्हैया सिंह, कुमार विकास, विनोद वर्मा, कपिल देव सिंह, विनीत सिंह, विकास सिंह, अमित झा, सुधीर पासी, बादल चक्रवर्ती, देवजी, सुनील अग्रवाल, अमोद सिंह, जितेंद्र सिंह, दौलत यादव, सरोज सिंह, बंटी, विवेक, ऋषि, धर्मवीर, चंदन, बिट्टू, मुकेश आदि ने अहम योगदान किया।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस