संवाद सहयोगी, सारठ : समर्थन जुटाओ अभियान के तहत शनिवार आयुष एसोसिएशन ऑफ झारखंड का एक प्रतिनिधिमंडल विधायक रंधीर सिंह से मिलकर सात सूत्री मांगों का ज्ञापन सौंपा। प्रतिनिधिमंडल में मुख्य रूप से प्रदेश अध्यक्ष डॉ. दिग्विजय भारद्वाज, प्रदेश कोषाध्यक्ष डॉ. कल्याण पंडित, प्रदेश संयुक्त सचिव डॉ. मनोज कुमार मंडल, डॉ. यशोधरानायक व डॉ. जितेंद्र कुमार शामिल थे।

मांगपत्र में पड़ोसी राज्य बिहार के तर्ज पर समान कार्य के बदले समान वेतन देने, आयुष के स्वीकृत पदों पर सीधे समायोजन करने, कोरोना वायरस के रूप में पंजीकृत करने सहित अन्य मांग शामिल है। आयुष चिकित्सकों ने विधायक को अपनी समस्या से अवगत कराते हुए मांगों को पूरा कराने का आग्रह किया।

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि आयुष एसोसिएशन कई वर्षों से एनएचएम के अंतर्गत कार्यरत आयुष चिकित्सकों की मांग को लेकर आंदोलन करते आ रहे हैं। बावजूद सरकार अभी तक गंभीरता पूर्वक विचार नहीं कर रही है। सभी आयुष चिकित्सक अपने कार्यों के अतिरिक्त ओपीडी, आइपीडी, इमरजेंसी सहित सभी राष्ट्रीय कार्यक्रमों में सक्रिय रूप से कार्य कर रहे हैं। वर्तमान में वैश्विक महामारी कोरोना में भी आयुष चिकित्सकों ने अग्रिम पंक्ति में रहकर थर्मल स्क्रीनिग, क्वांरटाइन, सैंपल कलेक्शन, कोविड-19 हॉस्पिटल में ड्यूटी, होम आइसोलेशन में ड्यूटी, टीकाकरण सहित अन्य कामों को पूरी निष्ठा के साथ किया। फिर भी सरकार आयुष चिकित्सकों को कोविड-19 की वेबसाइट में कोरोना योद्धा के रूप में पंजीकृत नहीं कर रही है। जो अत्यंत ही खेद का विषय है। इससे आयुष चिकित्सकों में भारी रोष व्याप्त है। विधायक ने संघ की मांगों को न्यायोचित बताया और आगे की कार्रवाई के लिए मुख्यमंत्री से मिलकर बात रखने का भरोसा दिलाया।

Edited By: Jagran