देवघर : कोविड-19 के प्रभावों से उबरने के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में खेलकूद को बढ़ावा दिये जाने का निर्णय राज्य सरकार ने लिया है। सरकार की मंशा है कि बच्चों में इम्युनिटी सिस्टम विकसित करने के लिए खेलकूद को बढ़ावा देना आवश्यक है। इसलिए सरकार ने महत्वाकांक्षी वीर शहीद पोटो हो खेल विकास योजना के तहत पंचायत स्तर पर खेल मैदान बनाने का निर्णय लिया है और इस योजना को अब धरातल पर उतारने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। इस योजना के शुरू होने से स्थानीय व प्रवासी मजदूरों को काम भी मिलेगा और बच्चों को खेल मैदान। फिलहाल जिला प्रशासन की ओर से खेल मैदान के लिए पंचायतों में स्थल चिह्नित करने की प्रक्रिया प्रारंभ की गई है।

----------------

प्रखंड में पंचायतों की संख्या के आधार पर बनेंगे मैदान

-----------

जिला प्रशासन ने जिले के सभी 10 प्रखंडों में पंचायत स्तर पर मैदान बनाने के लिए फार्मूला तय कर लिया है। तयशुदा फार्मूला के तहत जिस प्रखंड में पंचायतों की संख्या अधिक है वहां मैदान भी अधिक संख्या में बनाए जाएंगे। कुल पंचायतों की 25 फीसद संख्या के आधार पर मैदान बनाने का निर्णय लिया गया है। पहले चरण में स्थल चयन की प्रक्रिया चल रही है और इसके पूरा होते ही ग्रामसभा आयोजित कर इसकी प्रशासनिक स्वीकृति दी जाएगी।

---------------

तीन लाख 92 हजार रुपये की लागत से बनेगा एक मैदान

--------------

पंचायत स्तर पर बनने वाले एक मैदान पर तीन लाख 92400 रुपये खर्च करने का प्रावधान किया गया है। इस राशि से मैदान का समतलीकरण, चेजिग रूम और दो शौचालय का निर्माण जाएगा। कार्य मनरेगा के माध्यम से कराया जाएगा। मैदान के निर्माण पर दो लाख 39880 रुपये खर्च किये जाएंगे। जबकि चेजिग रूम के निर्माण पर 96,647 रुपये एवं शौचालय के निर्माण पर 55,874 रुपये खर्च किए जाएंगे।

-------------------

वर्जन

----------

सरकार की महत्वाकांक्षी वीर शहीद पोटो हो खेल विकास योजना के तहत खेल मैदानों के निर्माण की प्रक्रिया जिले में शुरू कर दी गई है। पंचायत स्तर पर बनने वाले इन मैदानों का निर्माण मनरेगा से होगा। इस योजना में कार्य करने वाले श्रमिकों को 194 रुपये मजदूर भुगतान किया जाएगा।

नैंसी सहाय, उपायुक्त, देवघर

---------------

वर्जन

----------

पंचायतों में खेल मैदान के निर्माण के लिए स्थल चयन की प्रक्रिया चल रही है। स्थल चयन होते ही ग्रामसभा में प्रस्ताव लाकर इसकी प्रशासनिक स्वीकृति दी जाएगी और इसके बाद मैदान निर्माण का कार्य प्रारंभ हो जाएगा। तयशुदा मियाद में योजनाएं धरातल पर उतरे पर इस पर विशेष जोर है।

शैलेंद्र कुमार लाल, डीडीसी, देवघर

------------------------------

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप