जागरण संवाददाता, देवघर : हाथों की सफाई लोगों के स्वास्थ्य के लिए जरूरी है। हाथ की सफाई मात्र से कई तरह की बीमारी से बचा जा सकता है। पूरे विश्व स्तर पर 15 अक्टूबर को विश्व हाथ सफाई दिवस मनाया जाता है। प्रदेश में इस आयोजन को लेकर एनएचएम के अभियान निदेशक द्वारा सभी जिलों के सिविल सर्जन व जिला आरसीएच पदाधिकारियों को निर्देश जारी किया गया था। पत्र में साफ कहा गया है कि सिर्फ हाथ ही सफाई करने से नवजात की मृत्यु दर में करीब 41 प्रतिशत की कमी आ सकती है। पांच वर्ष से कम उम्र के बच्चों में दस्त, निमोनिया का काफी खतरा रहता है। हाथ की सफाई करने से इस खतरे को काफी हद तक कम करने में मदद मिलती है। इससे पेट से जुड़ी बीमारियों व वायरल बीमारियों को भी कम किया जा सकता है। ऐसे में बार-बार हाथ धोना बहुत ही जरूरी है। राज्य में एक से 31 अक्टूबर तक डायरिया के खिलाफ पहले से अभियान चल रहा है। इस अभियान में हाथ ही सफाई पर विशेष फोकस किया जा रहा है। अभियान में तहत ज्यादा से ज्यादा लोगों को हाथों की सफाई के प्रति जागरूक करने का प्रयास किया गया। उन्हें हाथ ही सफाई के महत्व के बारे में जानकारी दी गई। आम लोगों के साथ ही स्वास्थ्यकर्मियों को भी हाथ की सफाई के महत्व के बारे में बताया गया। बच्चों के माता-पिता व परिजनों को इस बारे में जानकारी दी गई। लोगों को कोविड के खतरे को देखते हुए मास्क का प्रयोग करने व शारीरिक दूरी बनाए रखने के बारे में भी जानकारी दी गई।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप