सारवां : गुरुवार को संक्रमित युवक दस परिजन सहित 15 लोगों को सारवां कस्तूरबा विद्यालय स्थित क्वारंटाइन सेंटर से घर भेज दिया गया। इन सभी को अगले 14 दिनों तक होम क्वारंटाइन पर रहने को कहा गया है। जानकारी हो कि दोनों संक्रमित युवक का फिर से सैंपल जांच के लिए भेजा जा रहा है। दूसरी रिपोर्ट निगेटिव आ जाने के बाद उन दोनों को भी कोविड अस्पताल से घर भेज दिया जाएगा।

113 परिवार के बीच राशन वितरित : प्रखंड विकास पदाधिकारी रुद्रप्रताप के नेतृत्व में गुरुवार को भुरकुंडा गांव में राहत कार्य चलाया गया। इस दौरान गांव के 133 परिवार को प्रशासन की ओर से राशन मुहैया कराया गया। वहीं एनडीआरएफ की टीम की ओर से पूरे गांव में सैनिटाइज करने का काम भी लगातार जारी है। हर गली व हर घर में सैनिटाइजेशन का छिड़काव किया जा रहा है। इस दौरान लोगों से माइकिग के जरिए अपील की गई कि वे घर से बाहर न निकले। होम क्वारंटाइन के निर्देशों का अनुपालन करें। अगर इनका अनुपालन नहीं करेंगे तो तो उनके खिलाफ सख्ती से कार्रवाई की जाएगी। साथ ही प्रावधान के तहत सभी घरों में होम क्वारंटाइन का पोस्टर चिपकाया गया। इसमें जिक्र है कि लोग घर से न तो बाहर निकलें और न ही किसी बाहर वाले को अंदर आने दें। इसके साथ ही गांव में स्वास्थ्य जांच का सिलसिला भी लगातार जारी है। आज भी ग्रामीणों का स्वास्थ्य जांच किया गया। अभी तक किसी भी ग्रामीण में बीमारी का कोई लक्षण नहीं मिला है। जानकारी हो कि कोरोना मरीज मिलने के बाद ये नियम है कि गांव के सभी ग्रामीण का प्रारंभिक स्वास्थ्य जांच किया जाए और अगर किसी में बीमारी का लक्षण मिलता है तो उसके सैंपल का जांच किया जाएगा। राहत कार्य के दौरान थाना प्रभारी यशवंत कुमार सिंह, एएसआइ आनंद कुमार, सहिया मीना देवी आदि उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस