घाघरा (गुमला) : घाघरा प्रखंड के पोकटा अजियातु गांव में रविवार के दोपहर में हुई वज्रपात से दादा पोती की घटनास्थल पर ही मौत हो गई, जबकि सात साल का रोशन उरांव घायल हो गया। मरने वालों में 60 वर्षीय मोजी उरांव और दस साल की उनकी पोती गुलीना कुमारी शामिल हैं।

बताया जाता है कि मोजी उरांव अपने पोता-पोती के साथ साप्ताहिक हाट गए हुए थे। मौसम खराब होने और वर्षा होने के कारण वे लोग एक पेड़ के नीचे बैठ गए। उसी दौरान वज्रपात हो गया, जिसकी चपेट में तीनों आ गए। तीनों लोगों को ग्रामीणों ने इलाज के लिए घाघरा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया जहां चिकित्सक ने मोजी और गुलीना को मृत घोषित कर दिया। घटना की जानकारी मिलने पर पुलिस भी अस्पताल पहुंची। पुलिस ने दोनों शवों को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए गुमला सदर अस्पताल भेज दिया। इनसेट --- आंधी-तूफान ने किया कई को किया बेघर संवाद सूत्र, भरनो (गुमला) : रह-रह कर आ रहे आंधी-तूफान से कई लोग बेघर हो गए हैं। गरीबों के छप्पर उड़ जाने के कारण गरीबों के समक्ष सर छुपाने की समस्या उत्पन्न हो गई है। शनिवा के दोपहर बाद आई तेज आंधी से मारासीली गांव के कंदू उरांव के मकान का छप्पर उड़ गया। इसी तरह डुंबो खखसीटोली के बररु उरांव के घर में लगे एस्बेस्टस टूट कर बर्बाद हो गया। आंधी के वक्त बररू का परिवार एक शादी समारोह में गया हुआ था। दोनों किसान हैं और किसी तरह अपना जीवन-यापन कर रहे हैं। दोनों ने प्रशासन को आवेदन देकर मुआवजे की मांग की है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप