चतरा, जेएनएन। नक्सली मुठभेड़ में शहीद हए जिला बल के जवानों के परिजनों को पुलिस अधीक्षक अखिलेश बी वारियर ने रविवार को सम्मानित किया। यह सम्मान उनके घरों पर स्वयं पुलिस अधीक्षक ने दिया। इसका आयोजन वीरगाथा कार्यक्रम के तहत किया गया। पुलिस अधीक्षक ने शहीद दोनों जवानों के परिजनों से भेंट कर उनकी पत्नी को शाल, प्रशस्ति पत्र एवं मेडल देकर सम्मानित किया।

प्रतापपुर थाना क्षेत्र के ग्राम नायकाबिगहा निवासी कंहाई सिंह 30 जून 2008 को रांची जिले के तमाड़ में भाकपा माओवादी उग्रवादियों के साथ हुई भीषण मुठभेड़ में शहीद हो गए थे। वहीं 30 अक्टूबर 2008 को घाटशिला थाना क्षेत्र में माओवादी उग्रवादियों ने लैंड माइंस विस्फोट कर पुलिस के एक वाहन को उड़ा दिया था। जिसमें सिमरिया थाना क्षेत्र के चोपे बड़कागांव निवासी पुलिस बल का चालक सुलेमान कुजूर शहीद हो गया था। पुलिस अधीक्षक ने शहीद दोनों जवानों के परिजनों से भेंट कर उनकी पत्नी को शाल, प्रशस्ति पत्र एवं मेडल देकर सम्मानित किया।  पुलिस अधीक्षक ने कहा कि दोनों जवानों ने अदम्य साहस का परिचय देते हुए वीरगति प्राप्त की है। उनकी कुर्बानी को झारखंड पुलिस कभी नहीं भूल सकती है। उनकी वीरता ओर साहसिक मुठभेड़ के लिए स्वर्णिम अक्षरों में अंकित रहेगा और समस्त पुलिस परिवार के लिए प्रेरणास्रोत बने रहेंगे।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप