टंडवा : पुलिस ने थाना क्षेत्र के फूलवरिया स्थित फुटबॉल मैदान की घेराबंदी कर बुधवार को कुख्यात उग्रवादी मुनेश गंझू को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार आरोपित मुनेश गंझू पत्रकार इंद्रदेव हत्याकांड का मुख्य आरोपी है। अभियान एएसपी निगम प्रसाद ने बताया कि टंडवा थाना क्षेत्र के फूलवरिया में उग्रवादी के भ्रमणशील होने की गुप्त सूचना पुलिस अधीक्षक को मिली थी। जिसके आधार पर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी आशुतोष कुमार सत्यम के नेतृत्व में दो छापामारी दल का गठन कर फूलवरिया मैदान की घेराबंदी करते हुए उग्रवादी को खदेड़कर धर दबोचा लिया गया। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार उग्रवादी मुनेश गंझू ने पुलिस के समक्ष दिए स्वीकारोक्ति बयान मे टीएसपीसी के कई शीर्ष उग्रवादियों से सांठगांठ होने के साथ-साथ जोनल कमांडर आक्रमण को लेवी वसूल कर पहुंचाने की बात कही है। पुलिस के मुताबिक लेवी के रूप में वसूली गई क्रमश: पचपन लाख व पचहत्तर लाख रुपये  दो खेप में पहुंचाई गई थी। अपने स्वीकारोक्ति बयान में चतरा के चर्चित पत्रकार इन्द्रदेव यादव के चर्चित हत्याकांड में संलिप्तता स्वीकारी है। जबकि स्थानीय थाना क्षेत्र के आम्रपाली परियोजना में बम ब्लास्ट कर साईट कार्यालय को उड़ाने एवं हजारीबाग जिलातंर्गत चरही थाना में दर्ज रंगदारी मामले में अपनी संलिप्तता स्वीकारी है। पुलिस ने गिरफ्तार उग्रवादी मुनेश गंझू से उग्रवादियो के विरूद्ध महत्वपूर्ण सुराग मिलने का दावा किया है। छापामारी दल में अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी आशुतोष कुमार सत्यम, थाना प्रभारी बंधन भगत, अवर निरीक्षक अशोक चौबे,सअनि अजय केरकेट्टा समेत  पुलिस बल व सैट 50 के सशस्त्र जवान शामिल थे। पत्रकार वार्ता में अभियान ए एस पी निगम प्रसाद के अलावा सदर एसडीपीओ वरुण रजक उपस्थित थे।

Posted By: Jagran