जुलकर नैन, चतरा : प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना की प्रतीक्षा सूची के भूमिहीन लाभुकों को अब निराश होने की जरूरत नहीं है। सरकार ऐसे लाभुकों के लिए जमीन बंदोबस्त करा रही है। आवास निर्माण के लिए उन्हें आवश्यकता के अनुकूल बंदोबस्ती का पर्चा उपलब्ध कराया जाएगा। उपायुक्त जितेंद्र कुमार सिंह ने इसके लिए संबंधित अंचलों के अंचल अधिकारियों को निर्देश देते हुए दस जून तक बंदोबस्ती पर्चा सहित प्रतिवेदन समर्पित करने का निर्देश दिया है। जिले में चालू वित्तीय वर्ष के लिए 11,860 प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना की प्रतीक्षा सूची का लक्ष्य निर्धारित किया। प्रतीक्षा सूची के लक्ष्य में 118 ऐसे लाभुक हैं, जिनके पास अपनी जमीन नहीं है। वे भूमिहीन है। दूसरे के घरों या जमीन में अस्थायी रूप से डेरा जमाए हुए हैं। स्थिति को देखते हुए राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग के सचिव ने पत्र लिख प्रशासन का निर्देश दिया है कि भूमिहीन लाभुकों को आवास निर्माण के लिए भूमि की उपलब्धता सुनिश्चित कराएं। सरकार के निर्देश के बाद जिला प्रशासन ने भूमिहीन लाभुकों को सूचीबद्ध करते हुए संबंधित अंचल के अंचल अधिकारियों को भू-बंदोबस्ती करने को कहा गया है। अपर समाहर्ता संतोष कुमार सिन्हा ने बताया कि अंचलों के माध्यम से भूमि को चिह्नित किया जा रहा है। चूंकि लाभुक विभिन्न गांवों के रहने वाले हैं और जमीन उनके गांव में ही उपलब्ध कराना है। इसलिए दो से तीन दिनों का समय लग सकता है। फिर भी दस जून तक सभी अंचलों से प्रतिवेदन आने की पूरी उम्मीद है। :::::::::::::::: सबसे अधिक चतरा में भूमिहीन लाभुक प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास के भूमिहीन लाभुकों में सर्वाधिक चतरा प्रखंड के हैं। कुल लाभुकों का आधा से कुछ अधिक लाभुक इस प्रखंड में हैं। भूमिहीन कुल लाभुकों की संख्या 118 है। जिसमें सिर्फ चतरा प्रखंड में 60 हैं। वहीं इटखोरी, कान्हाचट्टी और गिद्धौर अर्थात तीन प्रखंड में ऐसे लाभुकों की संख्या शून्य है। ::::::::::::::::: प्रखंडवार लाभुकों की संख्या प्रखंड लाभुकों की संख्या चतरा 60 हंटरगंज 08 कुंदा 04 लावालौंग 12 मयूरहंड 04 प्रतापपुर 14 सिमरिया 05 पत्थलगडा 10 टंडवा 01 कुल 118 :::::::::::: अधिकारी वर्जन प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास के प्रतीक्षा सूची के 118 लाभुकों के पास जमीन नहीं है। सरकार ने ऐसे लाभुकों के लिए भूमि बंदोबस्ती का आदेश दिया है। जिसके आलोक में सभी अंचलों को जमीन बंदोबस्ती का निर्देश दिया गया है। जितेंद्र कुमार सिंह, डीसी, चतरा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस