फोटो-12 एवं 13

संवाद सूत्र, इटखोरी: महाने नदी में डूबे ग्राम सरहेता के 19 वर्षीय खेमलाल गंझू का पचास घंटे बाद भी कोई सुराग नहीं मिल पाया है। नदी में डूबे युवक की तलाश में सरहेता एवं आसपास के गांव के दो दर्जन लोग लगातार महाने नदी की खाक छान रहे हैं। लेकिन खेमलाल का कुछ भी अता पता नहीं चल पा रहा है। युवक के नदी में डूबने की घटना से खेमलाल के घर तथा गांव में मातम पसरा हुआ है। युवक के परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है। मालूम हो कि सोमवार को खेमलाल अपने दोस्तों के साथ फुटबॉल मैच खेलने महाने नदी के उस पार स्थित राजवर गांव जा रहा था। सभी युवकों के साथ खेमलाल भी नदी पार कर रहा था। उसी वक्त अचानक महाने नदी में बाढ़ आ गई। जिससे खेमलाल के साथ गांव का उदय गंझू एवं प्रकाश गंझू नदी की धार में बहने लगा। उदय व प्रकाश तो किसी तरह नदी के किनारे स्थित झाड़ियों को पकड़कर बाहर निकल गए। लेकिन खेमलाल को महाने नदी की धारा अपने साथ बहा कर ले गई। इस घटना की सूचना मिलने के बाद से ही गांव के लोग लगातार महाने नदी में खेमलाल की तलाश कर रहे हैं। बुधवार को भी सारे दिन दो दर्जन से अधिक लोगों ने महाने नदी में तलाशी अभियान चलाया। जिस स्थान पर खेमलाल नदी में डूबा था वहां से लेकर तमासिन जलप्रपात तक लोगों ने महाने नदी की खाक छान दी। फिर भी उन्हें अब तक कोई सफलता हाथ नहीं लगी है।

:::::::::::::::::::::::::::::प्रशासन का नहीं मिल रहा सहयोग 

महाने नदी में सोमवार की दोपहर डूबे खेमलाल गंझू के तलाशी अभियान में ग्रामीणों को प्रशासन का कोई सहयोग अब तक नहीं मिल पाया है। गांव के लोगों ने बताया कि मंगलवार को ग्रामीणों के द्वारा स्थानीय पुलिस को पूरे घटनाक्रम की लिखित सूचना दी गई है।

Posted By: Jagran