हंटरगंज : थाने के बलूरी गांव में गुरुवार की रात पिछड़ी जाति की बेटी का पहले द्वार लगाने के सवाल पर जमकर बवाल मचा। गांव के कुछ दबंगों ने बारातियों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। दूल्हा और समधी की धुनाई कर दी। इससे गुस्साए बाराती बिना शादी किए वापस लौट गई। मामला हंटरगंज थाने में दर्ज कर लिया गया है। अब पुलिस लड़की को लेकर शादी करवाने बोद्धगया गई है। लड़का पक्ष वहीं पहुंचने वाला है।

उल्लेखनीय है कि गुरुवार की रात बलुरी गांव में मेदू राम की पुत्री की शादी के लिए बिहार के गया जिला स्थित शेखवारा गांव से बराती आई थी। उक्त गांव में ¨पटू ¨सह के घर भी बराती आई हुई थी। ¨कतु मेदू राम की बेटी का बराती दरवाजा लगाने के लिए आगे निकल गई थी। यह बात ¨पटू ¨सह और उनके लोगों को नागवारा लगा। उन्होंने उक्त बराती को रोकते हुए पहले दरवाजा लगाने से मना किया। जिससे विवाद उत्पन्न हो गया और देखते-देखते ¨सह एवं उनके लोगों के द्वारा मेदू राम के घर आई बारात, दूल्हा एवं समधी के साथ मारपीट करना शुरू कर दिया। मारपीट के बाद बिना शादी किए मेदु राम कि पुत्री की बाराती वापस लौट गई। उक्त घटना को स्थानीय थाना में आवेदन दिया गया। उक्त आवेदन में ¨पटू ¨सह, अजय ¨सह सहित अन्य के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की गई। थानेदार माइकल मरांडी ने बताया कि मारपीट किए जाने का प्राथमिकी दर्ज कर ली गई। उन्होंने बताया कि पुलिस प्रशासन ने उक्त लड़की के साथ परिजनों को बोधगया ले जाकर शादी कराने का प्रयास कर रही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस