- जनप्रतनिधि व परिजन मुआवजा की मांग को धरना देकर अड़े, वार्ता करने जीएम के नहीं आने के कारण जारी रहा धरना संवाद सहयोगी, करगली (बेरमो) :

बेरमो थाना क्षेत्र के रामनगर निवासी रघुवीर राम के 25 वर्षीय पुत्र सह हाइवा डंपर के उपचालक अविनाश कुमार उर्फ टिकू की मौत मंगलवार की सुबह करगली वाशरी स्थित क्रशर के बगल में बने गढ्ढे के पानी में डूबने के बाद हो गई। हाइवा चालक जितेंद्र कुमार ने गढ्ढे में कूदकर अविनाश को पानी से निकालकर साथी कामगारों के सहयोग से उपचार के लिए रीजनल अस्पताल करगली पहुंचाया था। चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया। उसके बाद परिजनों ने अस्पताल में इमरजेंसी में तैनात डॉ. बलदेव दास के विलंब से आने और अस्पताल प्रबंधन पर इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए हंगामा किया। पिता रघुवीर राम ने कहा कि जिस वक्त उनके पुत्र को अस्पताल में ले जाया गया जीवित था, उसकी सांस चल रहीं थी। चिकित्सक के विलंब से आने के कारण उसकी मौत हो गई। साथ ही कहा कि अस्पताल के कर्मियों ने भी उनके पुत्र के इलाज में लपरवाही बरती। उनका पुत्र अस्पताल में ड्रेसिग रूम के बाहर ही स्ट्रेचर पर पड़ा रहा, लेकिन उसे इलाज करने के लिए ड्रेसिग रूम में नहीं ले जाया गया। परिजन अविनाश के शव से लिपटकर दहाड़ मार-मारकर रो रहे थे। परिजनों की चीत्कार सुनकर स्थानीय लोगों व रहगीरों का भी जमावड़ा अस्पताल में लग गया। सूचना मिलते ही युवा कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सह इंटक के सचिव कुमार जयमंगल उर्फ अनूप सिंह, फुसरो नगर परिषद के अध्यक्ष राकेश कुमार सिंह, उपाध्यक्ष छेदी नोनिया, भाजपा नेत्री सह जिप सदस्य नीतू सिंह आदि ने अस्पताल पहुंचकर मृतक के परिजनों को ढांढ़स बंधाया। परिजन व जनप्रतिनिधि सीसीएल बीएंडके महप्रबंधक के आने की मांग करने लगे, लेकिन घंटों इंतजार के बाद भी जीएम नहीं आए तो युवा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अनूप सिंह के नेतृत्व में परिजन व जनप्रतिनिधि शव को अस्पताल परिसर में रखकर धरना पर बैठ गए। मृतक के पिता रघुवीर राम ने कहा कि अविनाश उनका सबसे बड़ पुत्र था, जिसकी कमाई से घर का खर्च व परिवार की जरूरतें पूरी होती थी। उसकी अचानक मृत्यु हो जाने से उनके घर पर पहाड़ टूट पड़ा है। कहा कि बेटा तो लौटकर नहीं आएगा, परंतु प्रबंधन को इस घटना से सबक लेने की जरूरत है। उन्होंने प्रबंधन से मुआवजा की मांग की। प्रबंधन के साथ वार्ता नहीं होने के कारण धरना जारी रहा। हालांकि बेरमो के सीओ मनोज कुमार एवं थाना प्रभारी केके साहू ने उपस्थित लोगों को समझाते हुए धरना को समाप्त करने की अपील की, परंतु लोग धरना पर डटे रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप