बेरमो, (बोकारो) जेएनएन। बेरमो पुलिस ने मानव तस्करी के आरोप में दो महिलाओं को गिरफ्तार कर गुरुवार को जेल भेज दिया। दोनों महिलाओं ने नौकरी दिलाने का झांसा देकर 43 हजार रुपये में यहां की एक महिला को उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले के सांडिन में एक युवक के हाथों बेच दिया था। गिरफ्तार महिलाओं में नावाडीह थाना क्षेत्र के कठघरा ग्राम निवासी बहादुर तुरी की पत्नी सुकरी देवी (65) और बेरमो थाना क्षेत्र के जवाहरनगर निवासी रोशन साव की पत्नी बेबी देवी (53) है।

सांडिन में बेची गई महिला के पति विक्रम तांती ने बेरमो थाना पुलिस को दिए शिकायत में उक्त दोनों महिलाओं पर उसकी पत्नी को नौकरी का झांसा देकर बेचने का आरोप लगाया था। पुलिस ने इसे गंभीरता से लेते हुए बेबी देवी, सुकरी देवी को गिरफ्तार कर बेरमो थाना ले आई और दोनों से पूछताछ की गई। पुलिस के समक्ष दोनों आरोपित महिलाओं ने विक्रम तांती की पत्नी सीमा देवी को 43 हजार रुपये लेकर उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले सांडिन स्टेशन के समीप के एक युवक को बेचने की बात कबूली। बेरमो पुलिस ने भादवि की धारा 370 के तहत मामला दर्ज कर दोनों गिरफ्तार महिलाओं की मेडिकल जांच कराने के बाद तेनुघाट जेल भेज दिया।

पति गया दिल्ली, पत्नी को ले उड़ी महिला तस्कर
भुक्तभोगी विक्रम तांती ने पुलिस को बताया कि वह दुर्गा पूजा के पूर्व अपने रोजगार की तलाश में दिल्ली गया था। उसकी पत्नी सीमा देवी अपने सास ससुर के साथ जवाहरनगर में रहती थी। अचानक उसकी पत्नी घर से लापता हो गई। परिजनों ने काफी खोजबीन की। सीमा के मायके वाले भी खोजबीन में जुटे थे। लेकिन उसका कुछ पता नही चल पाया। विक्रम ने बताया कि उसकी साली व सास ने फोन कर बताया कि सीमा ने फोन किया था कि उसे उत्तर प्रदेश में बेच दिया गया है। इसके बाद विक्रम दिल्ली से लौटकर जवाहरनगर आया और मामले की तहकीकात के लिए बेरमो पुलिस को आवेदन दिया। पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए उक्त दोनों महिलाओं को गिरफ्तार किया।

अक्टूबर 2018 की घटना है। बेरमो के जवाहरनगर निवासी एक विवाहिता को काम दिलाने का झांसा देकर सुकरी देवी और बेबी देवी ने उसे उत्तर प्रदेश में बेच दिया था। यह मानव तस्करी का मामला है। दोनों गिरफ्तार महिला को जेल भेजा गया है। पुलिस दोनों को रिमांड पर लेकर गहन पूछताछ भी करेगी।
- केके साहू, थाना प्रभारी, बेरमो।
 

 

Posted By: Sachin Mishra