जागरण संवाददाता, बोकारो: सरकार ने सभी मंदिरों व धार्मिक स्थलों को खोलने की अनुमति दे दी है। इससे श्रद्धालु खासे उत्साहित हैं। बोकारो में भी श्री अयप्पा मंदिर, गुरुद्वारा सहित अन्य धर्मस्थलों के द्वार गुरुवार से श्रद्धालुओं के लिए खुल जाएंगे। हालांकि श्रद्धालुओं को मास्क पहन कर ही मंदिर व धार्मिक स्थलों में प्रवेश की अनुमति दी गई जाएगी। इन्हें शारीरिक दूरी के अलावा कोविड 19 की गाइडलाइन का अनुपालन करने की हिदायत दी गई है। पुजारी, पंडा, इमाम, पादरी, ग्रंथी आदि को कम से कम कोरोना के टीके की एक डोज लेना अनिवार्य होगा। श्रीराम मंदिर के पुरोहित पं. शिव कुमार शास्त्री ने कहा कि कोरोना से संबंधित गाइडलाइन का अनुपालन किया जाएगा। सेक्टर एक स्थित श्रीराम मंदिर भी श्रद्धालुओं के लिए खोल दिया जाएगा। श्रद्धालु यहां पूजन व आरती कर सकेंगे। श्री अय्यप्पा मंदिर, जगन्नाथ मंदिर व गुरुद्वारा का द्वार 16 सितंबर से श्रद्धालुओं के लिए खुलेगा। नगर व ग्रामीण क्षेत्र में मस्जिद व चर्च भी श्रद्धालुओं के लिए खोले जाएंगे। इसकी तैयारी की जा रही है। श्री अय्यप्पा सेवा संघम के अध्यक्ष सतीश नायर ने कहा कि मंदिर को 16 सितंबर से श्रद्धालुओं के लिए खोला जाएगा। कोविड 19 से संबंधित गाइडलाइन का पालन करते हुए श्रद्धालु भगवान की पूजा अर्चना व दर्शन कर सकेंगे। उत्कल सेवा समिति के डा. यू मोहंती ने कहा कि गुरुवार से भगवान जगन्नाथ मंदिर श्रद्धालुओं के लिए खोल दिया जाएगा। सेक्टर दो गुरुद्वारा के सचिव गुरमेल सिंह ने कहा कि 16 से ही श्रद्धालुओं के लिए गुरुद्वारा भी खोल दिया जाएगा। इसकी तैयारी की जा रही है।

Edited By: Jagran