जागरण संवाददाता, बोकारो: चास-बोकारो में 17 सितंबर को भगवान विश्वकर्मा पूजनोत्सव मनाया जाएगा। बीएसएल कर्मचारी, अधिकारी व श्रमिक के अलावा शहरी व ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले लोग श्रद्धा के साथ भगवान विश्वकर्मा की पूजा-अर्चना करते हैं। देवशिल्पी भगवान विश्वकर्मा पूजनोत्सव को लेकर चास-बोकारो के बाजार गुलजार हो उठे हैं। चास मेन रोड, योधाडीह मोड़, बोकारो इस्पात नगर के दुंदीबाद बाजार, श्रीराम मंदिर मार्केट, सिटी सेंटर सेक्टर चार, रीतूडीह, बालीडीह, कुर्मीडीह, जैनामोड़ आदि के बाजार में फल, फूल, माला, सजावटी सामान के अलावा पूजन सामग्री की बिक्री की जा रही है। लोगों की आवाजाही से बाजार गुलजार हो उठे हैं। बोकारो इस्पात नगर के नया मोड़ बिरसा चौक के अलावा चास धर्मशाला चौक के समीप फूल की बिक्री की जा रही है। यहां फूल से वाहनों से सजाया जाएगा।

बाहर की मंडियों से मंगवाए जा रहे फल: दिल्ली, पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश, नागपुर, बिहार आदि की मंडियों से दुंदीबाद व चास के बाजार में सेब, मौसमी, अनार, केला आदि मंगवाए जा रहे हैं। व्यवसायी बुंदिया, लड्डू सहित अन्य मिठाइयां भी बनवा रहे हैं। मूर्तिकार भगवान की प्रतिमा को अंतिम रूप देने में लगे हैं।

इस वर्ष नहीं लगेगा झूला: बीएसएल झोपड़ी कालोनी में पूजा पंडाल के निकट हर वर्ष विश्वकर्मा पूजा के अवसर पर मीना बाजार लगाया जाता है, लेकिन इस वर्ष कोरोना संक्रमण की वजह से इसपर रोक रहेगी। यहां बच्चों के लिए हिडोला, झूला आदि लगाए जाते थे।

Edited By: Jagran