बोकारो थर्मल (बेरमो) : डीवीसी के बोकारो थर्मल पावर स्टेशन (बीटीपीएस) के बी प्लांट बंद होने के बाद अब बुधवार को ए प्लांट भी ठप हो गया। ए प्लांट ठप हो जाने का कारण ब्वायलर के ट्यूब में रिसाव बताया जा रहा है। ब्वायलर ट्यूब गर्म रहने के कारण 24 घंटे के बाद उसकी मरम्मत का कार्य शुरू किया जाएगा। पांच दिन बाद दुरुस्त होने की संभावना है।

फिलहाल नेशनल ग्रिड से प्लांट व बोकारो थर्मल स्थित डीवीसी की कालोनियों में विद्युतापूर्ति की जा रही है। कुल 500 मेगावाट विद्युत उत्पादक क्षमता वाले ए प्लांट ठप होने से पहले 382 मेगावाट बिजली उत्पादन हो रहा था। शाम तक विशेषज्ञों की देखरेख में ब्वायलर ट्यूब को खोला जा रहा था, ताकि मरम्मत की जा सके।

वहीं, 630 मेगावाट विद्युत उत्पादक क्षमता वाले बी प्लांट की तीनों यूनिट को बीते 26 जून को बंद कर दिया गया था। बी प्लांट को बंद करने का निर्णय 15 मई को डीवीसी के वरीय अधिकारियों ने बैठक कर लिया था। कारण, प्लांट का अधिक खर्चीला एवं पर्यावरण संरक्षण के मापदंडो के अनुरूप नहीं होना बताया गया था।

बी प्लांट को बंद करने का आदेश डीवीसी के एडीशनल सेक्रेटरी दीपक विश्वास ने निर्गत किया था। बीटीपीएस के ए पावर की उत्पादित बिजली दिल्ली, मुंबई, बिहार, पश्चिम बंगाल, ओडिशा, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, हरियाणा, पंजाब व झारखंड के विभिन्न इलाकों सहित रेलवे, कोल इंडिया, सेल, टाटा, जिदल स्टील, दिल्ली डिस्कोम्स व अन्य कई निजी कल-कारखानों के साथ ही बंगलादेश को भी आपूर्ति की जाती है। वर्जन

ब्वायलर ट्यूब लीकेज हो जाने के कारण बीटीपीएस के प्लांट से बिजली उत्पादन बुधवार को सुबह ठप हो गया। ब्वायलर ट्यूब की मरम्मत का कार्य शुरू किया जा रहा है। दुरुस्त होते ही ए प्लांट को लाइटअप कर जेनरेशन से जोड़ दिया जाएगा।

- सुशांत सन्नीग्रही, परियोजना प्रधान, बीटीपीएस

Edited By: Jagran